नीली बत्ती के बगैर टोल टैक्स भरना मजबूरी

0
95

रायबरेली ब्यूरो : जो अधिकारी अभी तक नीली बत्ती लगाकर रोब झाड़ते हुए बगैर टोल दिए फर्राटा भरते थे, अब उनकी गाडियो को भी टोल देना पड़ रहा है। इसके अलावा उनकी गाडियो को अभी तक वी आई पी गेट से टोल कर्मी निकाल देते थे। अब उनको भी आम लोगो के लिए बने टोल गेट से ही अपनी कार को ले जाना पड़ रहा है। टोल पर टोल टैक्स न देने को भी लेकर उनकी टोल कर्मियो से झड़प तक हो रही है। वही टोल वसूलने वाले कर्मियो का कहना है कि अभी तक तमाम ऐसे लोग भी थे जिनको नीली बत्ती लगाने का अधिकार नहीं था वो भी बत्ती के रोब में बगैर टोल दिए निकल जाते थे।

लाल नीली बत्तियों को हटाने के बाद अब सिर्फ प्रशासनिक अधिकारियो और पुलिस विभाग को छोड़कर अन्य सभी को टोल टैक्स देना पड़ेगा। इसके अलावा अन्य किसी अधिकारी को टोल में छूट नहीं दी गयी है। अभी तक प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियो की आड़ में जो अधिकारी नीली बत्ती लगाने के लिए अधिकृत नहीं थे, वह भी नीली बत्ती लगा कर रोब झाड़ते मिल जाते थे लेकिन उन सभी से बत्ती लगाने का सवाल पूछनेवाला कोई नहीं था। अब ये सभी अधिकारी टोल टैक्स देने के बाद ही अपनी गाडियो को ले जा पा रहे है। निगोहां स्थित टोल के मैनेजर से जब इस बारे में बात की गई तो उनके द्वारा बात को टाल दिया गया और कहा कि ये सब तो होता रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here