महिलाओ एवं बालिकाओ की सुरक्षा टेालफ्री नम्बर, 181 एक टोल फ्री नम्बर 24 घण्टे कार्य करेगा

0
62

मैनपुरी(ब्यूरो)- महिलाओ एवं बालिकाओं की सुरक्षा तथा सामाजिक, आर्थिक सशक्तीकरण हेतु प्रदेश सरकार द्वारा 181 महिला हेल्प लाइन के रूप में अनेाखी पहल प्रारभ्भ की है, 181 एक टोल फ्री नम्बर है यह टेालफ्री नम्बर 24 घण्टे कार्य करेगा|

इस महिला हेल्प लाइन नम्बर पर कोई भी महिला एवं बालिका जो विषम परिस्थियों से ग्रस्त हो अथवा उसको किसी भी अन्य प्रकार की समस्या या आवश्यकता की पूर्ति हेतु सलाह अथवा सहायता की आवश्यकता हो तो टोलफ्री नम्बर पर काल कर सहायता प्राप्त की जा सकती है।

विषम परिस्थियों से ग्रस्त महिला द्वारा काल करने पर काल सेन्टर की प्रशिक्षित टेली काउन्सलर द्वारा महिला को परामर्श दिया जायेगा। यदि महिला को तत्काल घटना स्थल पर पहुंचकर उसे सहायता प्रदान किया जाना होगा तो ऐसी परिस्थियों में हेल्प लाइन के साथ सम्बद्ध जीपीएस सिस्टम युक्त रेस्क्यू वैन के माध्यम से 181 की टीम घटना स्थल पर पहुंचकर सहायता प्रदान करेगी |

उक्त जानकारी देते हुए जिलाधिकारी यशवन्त राव ने 181 महिला आशा ज्येाति को हरी झण्डी दिखाकर रवाना करते हुए दी। उन्होने कहा कि यह सेवा महिलाओं के लिए बहुत कारगार सिद्ध होगी। यदि महिला को किसी के द्वारा प्रताड़ित किया जाये तो वह 181 टोलफ्री नम्बर पर काल करें ताकि उसे तत्काल पुलिस सहायता मुहैया होगी।

उन्होंने बताया कि रेस्क्यू वैन में एक प्रशिक्षित महिला के साथ महिला पुलिस आरक्षी तैनात रहेगी जिसके द्वारा महिलाओं को विषम परिस्थियेां से बचाने व सहायता देने का कार्य किया जायेगाश्री राव ने बताया कि हिंसा से पीड़ित महिला को रेस्क्यू वैन के माध्यम से रेस्क्यू करके सुगमकर्ता द्वारा केन्द्र पर लाया जायेगा एवं उन्हें रिपोर्टिंग पुलिस चैकी, संबंधित थाने हस्तान्तरित किया जायेगा इस हेतु 181 हेल्पलाइन में अलग एंट्री रजिस्टर बनाकर रखा जायेगा, हस्तान्तरण करते समय उस महिला से संबंधित प्राप्त विवरणों को पूर्णरूप से भरकर रिर्पेाटिंग पुलिस चैकी,संबंधित थाने से उसकी पावती पत्रावली में संघारित की जायेगी।

रेस्क्यू वैन 181 के संचालन का उत्तरदायित्व जनपद स्तर पर गठित जिला संचालन समिति द्वारा किया जायेगा। जिसके सदस्य सचिव जिला प्रोवशन अधिकारी निर्धारित किया गया है। इस वैन का कमाण्ड सेन्टर एवं जिला महिला चिकित्सालय है। आशा ज्येाति केन्द्र पर जीवीकेईएमआरआई द्वारा रेस्क्यू टीम के लिए 3 महिला सुगमकर्ता की तैनाती की गयी है।

किसी दिवानी मामले से संबंधित अथवा घरेलू हिंसा का हो ऐसी स्थिति में 181 महिला हेल्पलाईन सुगमकर्ता के साथ दो महिला होमगार्ड (शिफटवार) अनिवार्य रूप से रवानगी के समय उपलब्ध रहेगी। इस अवसर पर जिला प्रोवेशन अधिकारी जे.के.त्रिवेदी, बाल संरक्षण अधिकारी अल्का मिश्रा आदि उपस्थित रहे।

रिपोर्ट-दीपक शर्मा 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY