कागजों पर करोड़ों के विकास कार्य, पर धरातल पर सब नदारत

0
199

बीघापुर/उन्नाव (ब्यूरो) शिक्षित और जागरूक व्यक्ति समाज में हो रहे भ्रश्टाचार को उजागर करके उस पर रोक लगा सकता है। जैसे-जैसे लोगों में जगारूकता बढ़ रही है, वैसे-वैसे भ्रश्टाचार की पर्तें भी उधड़ने लगी हैं। भ्रश्टाचार की पर्तें खोलता एक मामला विकास खण्ड की ग्राम सभा सगवर का प्रकाष में आया है। ग्रामीणों ने आरटीआई के तहत ग्राम सभा में कराए गए विकास कार्यों की जानकारी मांगी थी।जिस पर सूचना विभाग द्वारा न देने पर सम्बन्धित वेबसाइट से जानकारी कर लेने पर ग्रामीणों के होष उड़ गए। क्यों कि वेबसाइट पर जो विकास कार्य दिखाए जा रहे थे,वे ग्राम सभा में धरातल पर हुए ही नहीं।

मौराई नदी की खुदाई, सगवर में मंदरि के पास आदर्ष तालाब का निर्माण कराया जाना, ओम त्रिवेदी के घर से मेन नाली तक निर्माण कार्य, तुरक कुण्डी से मटिखाना तालाब तक नाला खुदाई, तुरुक कुण्डी से भगवन्तखेड़ा तक पुनः उसी नाले को खुदवाना,जूनियर स्कूल रायपुर के प्रांगण में मिट्टी भराई व खड़ंजा निर्माण, पुलिया के पास से भगवन्तखेड़ा तक कच्ची सड़क को बनाई दिखाया गया है, ओम प्रकाष के घर से 36 मी0 नाली व 120 मी0 खड़ंजा का निर्माण, प्रा0 पाठषाला भगवंतखेड़ा से महेष बाबा मंदिर तक मिट्टी व खड़ंजा का निर्माण कार्य, सगवर मोड़ से ग्राम सगवर तक पीडब्लूडी रोड के दोनों तरफ पटरी का जीर्णोद्धार आदि ऐसे कार्य हैं जो षिकायतकर्ता के अनुसार धरातल पर हुए ही नहीं हैं।वहीं हैण्ड पम्पों की मरम्मत पर 2 लाख 40 हजार 834 रु0 खर्च किया दिखाया गया है। ह्यूम पाइप खरदरादी में रु0 444313/-, पंचायत घर मरम्मत रु0 334000/-, गांधी चबूतरा के मरम्मत में रु0 129000/-, प्रा0 वि0 व उच्च प्रा0 वि0 पर हुए व्यय रु0 412500/-, नाली निर्माण कार्य में रु0 344000/-, खड़ंजा निर्माण में रु0 1339000/- ,मनरेगा से दुल्लर बाबा के घर से ओम त्रिवेदी के घर तक रु0 688800/- का व्यय दिखाया गया है।

शिकायतकर्ता ग्रामीणों राम स्वरूप शुक्ला, षिव कुमार, शिव पाल, राजेष, षिव भोला सिंह ,राम आधार, राजू आदि के अनुसार मुख्य मंत्री को भेजे शिकायती पत्र में गा्रम सभा में उपरोक्त कार्य न होने के अरोप लगाए हैं। वहीं विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इन षिकायतों पर जांच भी कराई गई है जिसमें 90 प्रतिशत कार्य फर्जी पाए गए हैं, अर्थात गा्रम सभा में भारी गबन किया गया है। अब देखने वाली बात होगी कि भ्रश्टाचारियों पर कार्यवाही होती है अथवा नहीं यह तो आने वाला समय ही बताएगा।वहीं जब इस भ्रश्टाचार के सम्बन्ध में खण्ड विकास अधिकारी से जानकारी की गई तो उन्होंने गोलमोल जवाब देते हुए इंतजार करने को कहा।।

रिपोर्ट – मनोज सिंह

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY