सीएम योगी के आदेशों पालन नहीं करना चाहता नगर पंचायत मानिकपुर

1
554


कालाकॉकर (प्रतापगढ ब्यूरो ) : देश मे इस समय सबसे बड़ी पार्टी के नेता मोदी ने सबसे ज्यादा स्वच्छता पर जोर देकर देश को आगे ले जाने के लिये सोंचते हैं | करोड़ों रुपये मशीने खरीदने के लिये हर जिले में देते हैं ताकि सफाई में कोई दिक्कते न आये | समाज में सफाई रहे तो बीमारी नहीं रहेगी और लोग स्वस्थ रहेंगे |

जनता को मोदी की रीति पसंद आयी और यूपी में भी मोदी के नाम पर भाजपा को चुना कि शायद यूपी को मोदी जैसे नेता की जरूरत है | जनता की मांगो को देखते हुये मोदी ने प्रदेश को तेज तर्रार नेता योगी को और प्रतापगढ़ में दो मंत्री भी दिये कि जिले में सुधार हो जाये ?


लेकिन मानिकपुर की कहानी ऐसी है कि ना तो यहॉ मोदी का डर है और न ही योगी का यहॉ नगर पंचायत ने पिछले तीन वर्षों में लगभग पचासों लाख रुपये की मशीनरी खरीदी और जनता के उपयोग में आने वाली मशीनों को सिर्फ नगर पंचायत में खड़े रखकर के लाखों की मशीनों को कबाड़ बना डाला | अगर ये मशीनें एक दिन भी चल जाती तो शायद जनता को इतनी तकलीफ न होती | जनता तो इसकी बर्बादी को देखकर यही कहती है कि अब योगी की सरकार है, अब तो जॉच होनी चाहिये, लेकिन जनता को ये नही पता कि जॉच करना अधिकारियों का काम है,जो अभी भी मानिकपुर की दुर्दशा को देखने नहीं आ रहे हैं | सरकार के सख्ती के बीच ाअधिकारियों की लापरवाही इस बात को याद दिलाती है कि अधिकारी या कर्मचारी वहीं सख्त हैं, जहॉ नेता भाजपा के हैं जहॉ अन्य कोई दल के नेता हैं वहॉ पर योगी राज का डर कोसो दूर हैं |


अब हम आपको उन मशीनों के बारे में बताते हैं जिनको बड़ी-बड़ी कम्पनियों के नाम पर लाया गया कोई गाजियाबाद से लायी गयी है तो कोई नोएडा से | लेकिन ये मशीनें एक भी दिन नही चलीं | क्या अधिकारी अब भी जॉच नहीं कर पा रहे हैं अब तो अधिकारी सही-सही जॉच कर सकते हैं और दूध का दूध पानी का पानी कर सकते हैं |

(1)कूड़ा उठाने वाली जेशीबी मशीन नयी मगायी लेकिन कूड़ा उठाना तो दूर खुद चलने में भी असमर्थ रही एक दिन भी नहीं चल पायी |

(2) फॉगिंग मशीन लाखों रुपये लगा कर मगायी गयी लेकिन फॉगिंग मशीन सिर्फ शोपीस बनकर रह गयी |

(3) जनरेटर : दो जनरेटर बड़े बड़े लाखो की लागत से मंगवाकर शोभा बढाने के लिये रखवा दिए गए, लेकिन एक घंटा भी नहीं चला |

(4) कूड़ा रखने वाली ट्राली जो चौराहों के लिये होती है, इसे मंगवाकर दर्जनों की संख्या में कार्यालय में सड़वा दिया लेकिन उपयोग नहीं होने दिया |

(5) शौचालय : चार पहिया पर लगा हुआ शौचालय जो लाखों के बजट से आया लेकिन आज तक न ही सार्वजनिक स्थान पर पहुँचाया गया और न ही बाजारों या चौराहों पर लगाया गया |

इस शौचालय को टाउन एरिया में ही खड़ा रखते हैं | हॉ कुछ एक दो जगह किसी करीबी की शादी मे शौचालय दिया जाता है | पिछले चार वर्षो मे कितनों का सामान अच्छी कम्पनियों के नाम पर लाया गया पर वास्तव में कबाड़ ला कर जनता का पैसा बर्बाद कर के अपना कमीशन बनाते हैं और भोली भाली जनता अनजान बनी रहती है | अधिकारी अगर कभी भी सरकारी मशीनो पर खर्चा होने वाले धन के और मशीनो की स्थिति के बारे मे जानकारी करते होते तो शायद जनता इस बुरी तरह छली न जाती l अब देखना ये है कि योगी के राज मे अधिकारी क्या इस मानिकपुर नगर पंचायत की जॉच करवाकर जनता के पैसो का हुये दुरुप्रयोग में क्या कदम उठाते है?

रिपोर्ट पंकज मौर्या

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY