व्यापार मंडल ने दी आन्दोलन की धमकी

0
46

सोनभद्र(ब्यूरो)- डाला बिल्ली मारकुंडी खनन क्षेत्र के ओबरा, डाला, वर्दिया, सिंदूरिया में लगे सैकड़ों क्रसर प्लांट एम एम 11 के अभाव में हुऐ बन्द। खनन व्यवसाय से जुड़े हजारों लोगों व व्यापारी वर्ग के सामने रोजी रोटी का संकट गहराई गंभीर समस्या के साथ पलायन की स्थिति पैदा हो गई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रेस वार्ता में डाला ब्यापार मंडल अध्यक्ष मुकेश जैन ने बताया कि एमएम11 की कमी के कारण क्रसर का व्यवसाय ध्वस्त हो गया है। इसका खामियाजा आम उपभोक्ताओं के साथ मध्यवर्गीय व गरीब तपके को भी उठाना पड़ रहा है। भाजपा सरकार बनने के तत्काल बाद ही जिले में खनन की वी आई पी टैक्स के वसूली पर रोक लगा दी गई और अवैध खनन पर पूर्णतया प्रतिबंध लगा दिया गया।

इसके बावजूद जनपद के संबंधित अधिकारियों द्वारा एम एम 11 की कालाबाजारी में बड़ा खेल खेला जा रहा है। बिल्ली मारकुंडी खनन क्षेत्र में आज तक के इतिहास में सबसे ऊंचे दामों में परमिट बेचा जा रहा है। विभाग के मिलीभगत से एम एम 11 चंद लोगो को ही मिल पा रहा है बाकी सैकडो़ क्रशर व्यवसाय पूरी तरह ठप पड़ा है।

गोरखधंधे की कालाबाजारी में शामिल लोगों के विरुद्ध किसी स्वतंत्र एजेंसी से जांच कराई जाने की मॉग करते हुऐ श्री जैन ने कहा कि 2012 में बंद पड़े खनन व्यवसाय को व्यापार मंडल द्वारा दो माह अनवरत संघर्ष करके ही चालू कराया गया था जिसका नेतृत्व स्वयं व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष बनवारीलाल कंछल ने किया था । वर्तमान समय में जिले के तैनात संबंधित अधिकारी सरकार के मंसानुसार कार्य नहीं कर रहे हैं जबकि केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लिए कटिबद्ध है।

उन्होंने कहा कि जनपद के जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा एम एम 11 परमिट के पन्नों के कालाबाजारी पर अंकुश नही लगाया गया तो व्यापार मंडल इसके विरोध में जल्द ही वृहद स्तर पर आंदोलन करने के लिए बाध्य होगी जिसका जिम्मेदार जिला प्रशासन होगा।

रिपोर्ट – ज़मीर अंसारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here