ट्रेनों को 500 किमी की गति से चलाने की तैयारी कर रहा रेलवे, देश के एक कोने से दूसरे कोने जाने में अधिकतम 12 घंटे…

0
1989

suresh-prabhu
भारतीय रेलवे को सुविधाजनक और गतिमान बनाने के क्षेत्र में रेलवे के अगले कदम पर बोलते हुए रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने बताया कि भारतीय रेलवे रेलवे की गति को बढ़ने के लिए उल्त्रा हिघ स्पीड तकनीकि विकसित करने में लगी हुई है, उन्होंने कहा रेलवे का प्रयास है कि भारत के हिस्से से दुसरे हिस्से जाने के लिए अधिकतम समय सीमा 12 घंटे हो, जिसके लिए हमें सभी ट्रेनों की गति बढ़ने की ज़रुरत है | |

भारत में पहली बार प्रति घंटे 500 किलोमीटर एवं उससे ज्यादा की अधिकतम गति पर चलाने के लिए अल्ट्रा हाई स्पीड रोलिंग स्टॉक हेतु प्रौद्योगिकी हो रहे सम्मलेन का उद्घाटन करते हुए प्रभु ने कहा भारतीय रेलवे अल्ट्रा हाई स्पीड रोलिंग विकसित एवं क्रियान्वित करना चाहती है ताकि इसका इस्तेमाल स्वदेश में हो सके और इसके साथ ही रेलवे इसका निर्यात करने में भी समर्थ हो सके |

इस सम्मेलन के आयोजन से अल्ट्रा हाई स्पीड के क्षेत्र में सभी प्रमुख कंपनियां रुचि दिखा रही कई दिग्गज कंपनियां जैसे कि अमेरिका की हाइपरलूप ट्रांसपोर्ट टेक्नोलॉजी, अमेरिका की क्वाडरालेव, स्पेन की टैल्गो, जापान की आरटीआरआई, जर्मनी की सीमेन्स, जर्मनी की नॉर ब्रेम्जे और स्विट्जरलैंड की प्रोज इसमें हिस्सा ले रही हैं. रेलवे, भारतीय उद्योग जगत, राजनयिक समुदाय, अंतर्राष्ट्रीय उद्योग जगत, रेलवे की यूनियनों के महासंघ इत्यादि के लगभग 500 प्रतिनिधि इसमें शिरकत कर रहे हैं |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here