ट्रक ने बाईक में सवार दो लोगों को मारी टक्कर, एक की मौत

0
83

कबरई/महोबा(ब्यूरो)- कानपुर नेशनल हाईवे मे नहीं थम रहा दुर्घटनाओं का सिलसिला। प्रतिदिन होती है इस रोड पर दुर्घटना तथा कोई न कोई खो देता है अपने लोगो को। बाईपास होने के बावजूद भी मेन मार्केट से थाने के सामने से तेजी के साथ निकलते है बडे तथा हाईवा वाहन।

सडक दुर्घटना का फिर हुआ एक और शिकार-

प्राप्त जानकारी के मुताबिक कल रात करीब 10:15 बजे कबरई थाना की घटना है, जहाँ कानपुर रोड पर शक्ति स्टोन मिल के पास रखी अपनी चाय नाश्ते की दुकान बन्द करके अपनी मोटरसाइकिल होरो श्पलेन्डर रजि.न. UP 95 K 5141 मे सवार हो दो सगे भाई जिसको बाईक चला रहा बडा भाई रवि पुत्र भूरा यादव निवासी इन्दिरा नगर कबरई और पीछे बैठा उसका छोटा भाई शैलेन्द्र 18 पुत्र भूरेलाल उर्फ भूरा यादव सहित दुकान बंद करके वापस अपने घर की ओर आ रहे थे कि तभी रास्ते मे कानपुर रोड कबरई स्थित नगर पंचायत के पुराने बैरियल के पास सामने, कबरई कस्बे की ओर से आ रहे एक ट्रक डम्फर रजि.न. UP77T5640 का चालक ट्रक को तेजी व लापरवाही के साथ चलाकर आया और उसने बाईक सवार को जोरदार टक्कर मार दी|

टक्कर लगने से बाईक चालक उछलकर दूर गिर गया, जिससे वह बाल-बचा लेकिन बाईक चालक का छोटा भाई जो पीछे बैठा था| वह ट्रक की चपेट मे आ गया और ट्रक से कुचलकर उसकी मौके पर ही मौत हो गई तथा बाईक भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई व ट्रक फरार हो गया।

मौके पर मौजूद राहगीर अजय पुत्र नत्थू निवासी विवेक नगर व आशाराम पुत्र कल्लू निवासी आजाद नगर आदि ने घटना को देखा तथा पुलिस को घटना की सूचना दी| मौके पर पुलिस ने पहुंच कर मृतक को पोस्टमार्टम के लिया महोबा भेज दिया गया।

एक गौर करने वाली बात-

कानपुर सगार राष्ट्रीय मार्ग पर इस प्रकार की हो रही सडक दुर्घटना के कुछ जिम्मेदार हाईवे के नजदीक ही लगे क्रेशर प्लान्ट भी है, जो की महोबा रोड तथा कानपुर रोड पर सैकड़ों ऐसे क्रेशर प्लान्ट है| जो की सडक के बिल्कुल ही नजदीक लगे है और क्रेशर चलने से उनसे उडती धूल जो हाईवे पर छा जाती है| इससे रात मे वह धूल पूरी तरह कोहरे का काम करती है, जिससे दनादन हाईवे पर दौडते वाहनो मे बाधा उत्पन्न करती, जिससे वाहन चालको को आमने सामने से कुछ नजर नहीं आता और बडी दुर्घटना हो जाती है लेकिन इस पर न तो शासन का ध्यान जाता है और न ही हाईवे पर लगे क्रेशर प्लान्टो का कि उस उडती धूल का कोई उपाऐ कर सकें।

रिपोर्ट- प्रदीप मिश्रा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY