किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में दो आरोपियों को सात वर्ष सश्रम कारावास व 20-20 हजार रूपये अर्थदंड की सजा

0
75
Representative

सुलतानपुर- किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट न्यायाधीश अनिल कुमार यादव ने दो आरोपियों को दोषी ठहराया है। जिन्हें सात-सात वर्ष के सश्रम कारावास व 20-20 हजार रूपये अर्थदंड की सजा सुनाई गई है। अदालत ने अर्थदंड की धनराशि में से 15 हजार रूपये पीड़िता को दिए जाने का भी आदेश दिया है।

मामला बाजार शुकुल थाना क्षेत्र के भउवापुर गाँव का है। जहाँ के रहने वाले आरोपीगण सरफराज पुत्र जमील व मतलूब पुत्र महबूब के खिलाफ अभियोगी ने मुकदमा दर्ज कराया। आरोप के मुताबिक 9 जून 2011 को उसकी 14 वर्षीय पुत्री अपनी नानी के यहाँ से सब्जी लाने गई थी, इसी दौरान दोनों आरोपी उसकी पुत्री को जबरन उठाकर जोगाका पुरवा पुल के निकट स्थित पोल्ट्री फार्म पर ले गए और उसके साथ दोनों आरोपियों ने जबरन सामूहिक दुष्कर्म किया। जिसके बाद दोनों आरोपियों ने मोटर साईकिल से ले जाकर बाजार जैनबगंज जंगल के पास उसे छोड़ दिया। इसी मामले का विचारण फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में चल रहा था। इस दौरान अभियोजन पक्ष के शासकीय अधिवक्ता अब्दुल मोमीन ने छः गवाहों को परीक्षित कराया, वहीं बचाव पक्ष ने आरोपो को गलत साबित करने के लिए पोल्ट्री फार्म की मालकिन बदरुल निशां को परीक्षित कराया। दोनों पक्षो को सुनने के पश्चात् एफटीसी न्यायाधीश अनिल कुमार यादव ने दोनों आरोपियों को दोषी ठहराते हुए सात-सात वर्ष के सश्रम कारावास व 20- 20 हजार रूपये अर्थदंड की सुनाई है। न्यायाधीश ने अर्थदंड की धनराशि में से 15 हजार रूपये पीड़िता को भी दिए जाने का आदेश दिया है।

रिपोर्ट- संतोष कुमार यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here