सड़क निर्माण में भ्रष्टाचार करने वाली दो बड़ी कंपनियाँ काली सूची में जाएंगी

0
57

लखनऊ : उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने पूर्ववर्ती सरकारों के कार्यकाल में सड़कों के निर्माण में भारी भ्रष्टाचार होने का आरोप लगाते हुए कहा कि जल्द ही इसका राजफाश किया जाएगा। भ्रष्टाचार की जांच जारी है, बहुत से गंभीर मामले सामने आ रहे हैं। फर्जी बैंक गारंटी और कंपनियां बनाकर ठेके लिये गए। भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाएगी, चाहे वह कितने भी बड़े पद पर आसीन क्यों न हों। उन्होंने कहा कि मै अभी मुंह नहीं खोल रहा हूं जल्द ही भ्रष्टाचार के कारनामे खोलूंगा। उन्होंने दो कंपनियों को ब्लैकलिस्ट करने की जानकारी दी।

बसपा के लालजी वर्मा ने ग्रामीण क्षेत्र की सड़कों के रखरखाव को नीति बनाने के बारे में पूछा तो उपमुख्यमंत्री ने बताया कि सरकार इस बारे में गंभीर है। 15 जून तक सभी सड़कें गड्ढामुक्त होंगी विधानसभा में प्रश्नोत्तर काल में भाजपा के अनुराग सिंह के सवाल के जवाब में मौर्य ने बताया कि प्रदेश की कुल 80 हजार किलोमीटर लंबी सड़कें गड्ढायुक्त चिह्नित की गईं, जिसमें से 15 मई तक 13,992 किलोमीटर की लंबाई में सड़कों को गड्ढामुक्त कर दिया गया है। आगामी 15 जून तक सभी सड़कों को गड्ढामुक्त कर दिया जाएगा। मौर्य उस समय नाराज दिखे जब कांग्रेस के अजय कुमार लल्लू ने सड़क निर्माण की गुणवत्ता पर सवाल उठाया। बसपा के मोहम्मद असलम राइनी ने दो लेन और फोर लेन राज्यमार्गों के निर्माण का मानकों व वारंटी अवधि के बारे में सवाल दागा। निर्माण कार्यों में भ्रष्टाचार की जांच कराने के बारे में भी पूछा|

रिपोर्ट- मिंटू शर्मा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY