मासूमों की चीख से दहल उठा भौरी घाट

0
55

बौडी/बहराइच (ब्यूरो) एक साथ हुई दो बच्चों की मौत के बाद बौंड़ी थाना क्षेत्र के घाघरा नदी के मुहाने में बसा भौंरी गांव परिवारीजनों के चीत्कारों से दहल उठा। मां-बाप का रो-रोकर बुरा हाल है वहीं बच्चों को खोने के बाद परिवारीजनों की चीखें यहां पहुंचने वाले हर एक शख्स को द्रवित कर देती हैं। गांव पुलिस की छावनी के रूप में तब्दील है।

बुधवार को बौंड़ी के भौंरी गांव स्थित घाघरा के कछार में खनन स्थल के निकट गांव निवासी करन (10) पुत्र चेतराम का शव बालू के बीच पटा पाया गया था। उसके साथ गया गांव के रहमत अली के 12 वर्षीय बेटे निसार का भी शव घाघरा नदी के नाले में उतराता मिला। एक साथ दो बच्चों की मौत के बाद गांव में सनसनी फैल गई। मां-बाप का रो-रोकर बुरा हाल है। बता दें कि इकलौते बेटे के खोने के गम में चेतराम व उनकी पत्नी बेसुध हैं। निसार की मां अलीमुन व पिता रहमत अली का रो-रोकर बुरा हाल है। गांव में मातम का माहौल है। पीड़ित परिवारीजन यहां पर पहुंचने वाले हर शख्स से बच्चों की मौत के मामले में न्याय की गुहार लगा रहे हैं। अधिकारी बच्चों की मौत की तह तक जाने के लिए पड़ताल में जुटे हैं। अधिकारियों का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा।

छावनी में तब्दील हुआ गांव
घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों को समझाने-बुझाने के लिए पुलिस व राजस्व अधिकारियों का अमला गांव पहुंचा। दूसरे दिन भी गांव में एएसपी रवींद्र कुमार ¨सह, एसडीएम नागेंद्र कुमार, सीओ तनवीर अहमद खान, प्रवीण कुमार ¨सह कैसरगंज, फखरपुर, हुजूरपुर के थानाध्यक्ष व पुलिसकर्मी मौजूद रहे।

रिपोर्ट – राकेश मौर्य

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here