⁠⁠⁠⁠⁠वाराणसी पैरा मेडिकल कॉलेज के 2 लोगो पर पुलिस ने किया मुकदमा, आरोपी गिरफ्तार

0
69

वाराणसी(ब्यूरो)- मडुवाडीह थानाक्षेत्र के माँ वैष्णो नगर कॉलोनी स्थित रामविलास हॉस्पिटल में चल रहे पैरामेडिकल कॉलेज के छात्र व छात्राओं ने कालेज प्रशासन पर फर्जीवाड़ा करने का आरोप लगाते हुए मंगलवार को मडुवाडीह थाने पर हंगामा कर दिया। छात्र व छात्राओं का आरोप है कि कालेज फर्जी है और दो साल से विभाग के छात्र व छात्राओं की परीक्षा तक नहीं करायी गयी है।

छात्र व छात्राओं ने राज्यमंत्री निलकठं तिवारी, अनिल राजभर, जिलाधिकारी, एस एस पी समेत मडुवाडीह थाना के साथ रविन्द्रपुरी स्थिति पीएम नरेन्द्र मोदी के जनसम्पर्क कार्यालय पर ज्ञापन देकर न्याय करने की गुहार लगायी है। ज्ञात हो कि कुछ समय पूर्व पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में ही संतुष्टि इंस्टीट्यूट और एपेक्स पैरामेडिकल के छात्र व छात्राओं ने मोर्चा खोल दिया था।

छात्र व छात्राओं का आरोप है कि रामविलास हॉस्पिटल प्रबंधन ने फर्जी ढंग से फिजियोथिरेपी विभाग खोल कर प्रवेश दिया है। छात्र व छात्राओं का लाखों रुपया खर्च हो चुका है और दो साल बीतेने को है, लेकिन अभी तक उनकी परीक्षा तक नहीं हुई है। छात्र व छात्राओं ने सबसे पहले कुछ समय पूर्व मडुवाडीह थाने में तहरीर दी थी और फिर प्रदेश के कई राज्यमंत्रियों से लगायत डी एम, एस एस पी के दरबार व रविन्द्रपुरी स्थित पीएम मोदी के जनसम्पर्क कार्यालय में गुहार लगा चुके हैं। छात्र व छात्रों ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि उनके साथ न्याय नहीं होता है तो वह आंदोलन तेज करने के लिए बाध्य होंगे।

पुलिस ने दोनों आरोपियों को धारा
वाराणसी।मडुवाडीह थानाक्षेत्र के माँ वैष्णो नगर कॉलोनी स्थित रामविलास हॉस्पिटल में चल रहे पैरामेडिकल कॉलेज के छात्र व छात्राओं ने कालेज प्रशासन पर फर्जीवाड़ा करने का आरोप लगाते हुए मंगलवार को मडुवाडीह थाने पर हंगामा कर दिया। छात्र व छात्राओं का आरोप है कि कालेज फर्जी है और दो साल से विभाग के छात्र व छात्राओं की परीक्षा तक नहीं करायी गयी है।

छात्र व छात्राओं ने राज्यमंत्री निलकठं तिवारी, अनिल राजभर, जिलाधिकारी, एस एस पी समेत मडुवाडीह थाना के साथ रविन्द्रपुरी स्थिति पीएम नरेन्द्र मोदी के जनसम्पर्क कार्यालय पर ज्ञापन देकर न्याय करने की गुहार लगायी है। ज्ञात हो कि कुछ समय पूर्व पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में ही संतुष्टि इंस्टीट्यूट और एपेक्स पैरामेडिकल के छात्र व छात्राओं ने मोर्चा खोल दिया था।

छात्र व छात्राओं का आरोप है कि रामविलास हॉस्पिटल प्रबंधन ने फर्जी ढंग से फिजियोथिरेपी विभाग खोल कर प्रवेश दिया है। छात्र व छात्राओं का लाखों रुपया खर्च हो चुका है और दो साल बीतेने को है, लेकिन अभी तक उनकी परीक्षा तक नहीं हुई है। छात्र व छात्राओं ने सबसे पहले कुछ समय पूर्व मडुवाडीह थाने में तहरीर दी थी और फिर प्रदेश के कई राज्यमंत्रियों से लगायत डी एम,एस एस पी के दरबार व रविन्द्रपुरी स्थित पीएम मोदी के जनसम्पर्क कार्यालय में गुहार लगा चुके हैं।

छात्र व छात्रों ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि उनके साथ न्याय नहीं होता है तो वह आंदोलन तेज करने के लिए बाध्य होंगे।वाराणसी। मडुवाडीह थानाक्षेत्र के माँ वैष्णो नगर कॉलोनी स्थित रामविलास हॉस्पिटल में चल रहे पैरामेडिकल कॉलेज के छात्र व छात्राओं ने कालेज प्रशासन पर फर्जीवाड़ा करने का आरोप लगाते हुए मंगलवार को मडुवाडीह थाने पर हंगामा कर दिया। छात्र व छात्राओं का आरोप है कि कालेज फर्जी है और दो साल से विभाग के छात्र व छात्राओं की परीक्षा तक नहीं करायी गयी है।

छात्र व छात्राओं ने राज्यमंत्री निलकठं तिवारी,अनिल राजभर,जिलाधिकारी,एस एस पी समेत मडुवाडीह थाना के साथ रविन्द्रपुरी स्थिति पीएम नरेन्द्र मोदी के जनसम्पर्क कार्यालय पर ज्ञापन देकर न्याय करने की गुहार लगायी है। ज्ञात हो कि कुछ समय पूर्व पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में ही संतुष्टि इंस्टीट्यूट और एपेक्स पैरामेडिकल के छात्र व छात्राओं ने मोर्चा खोल दिया था।

छात्र व छात्राओं का आरोप है कि रामविलास हॉस्पिटल प्रबंधन ने फर्जी ढंग से फिजियोथिरेपी विभाग खोल कर प्रवेश दिया है। छात्र व छात्राओं का लाखों रुपया खर्च हो चुका है और दो साल बीतेने को है, लेकिन अभी तक उनकी परीक्षा तक नहीं हुई है।

छात्र व छात्राओं ने सबसे पहले कुछ समय पूर्व मडुवाडीह थाने में तहरीर दी थी और फिर प्रदेश के कई राज्यमंत्रियों से लगायत डी एम, एस एस पी के दरबार व रविन्द्रपुरी स्थित पीएम मोदी के जनसम्पर्क कार्यालय में गुहार लगा चुके हैं। छात्र व छात्रों ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि उनके साथ न्याय नहीं होता है तो वह आंदोलन तेज करने के लिए बाध्य होंगे।
पुलिस ने दोनों आरोपियों को धारा 419,420,504, 506 के तहत जेल भेजा।

रिपोर्ट-सर्वेश कुमार यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY