महाशिवरात्रि पर दो दुलर्भ संयोग

0
170

कानपुर (ब्यूरो)– वैसे तो भगवान शिव की आराधना हर सप्ताह सोमवार को की जाती है और हर महीने मे मासिक शिवरात्रि मनाई जाती है लेकिन साल में शिवरात्रि का मुख्य पर्व जिसे व्यापक रूप से देश भर में मनाया जाता है, दो बार आता है। एक फाल्गुन के महीने में तो दूसरा श्रावण मास में। फाल्गुन माह की शिवरात्रि को महाशिवरात्रि कहा जाता है। इसे फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष क चतुर्दशी को मनाया जाता है।शहर के सभी शिवालयों में महाशिवरात्रि की तैयारियां जोरो पर है। सभी शिव मंदिरों में इस दिन भक्तों का सैलाब उमडता है।

इस बार महाशिवरात्रि विशेष  संयोग में मनाई जा रही है। शुक्रवार को इस दिन तीन विशेष संयोग बन रहे है। दो दिन पडने वाली महाशिवरात्रि का पर्व इस बार स्वार्थ सिद्ध एवं सिद्धयोग पडने के कारण खास है। चतुर्दशी तिथि 24 फरवरी को रात्रि 9.30 बजे शिवरात्रि शुरू होगी जो 25 फरवरी रात्रि 9.15 बजे तक रहेगी। महाशिवरात्रि का पर्व रात्रि व्यापिनी होने पर विशेष माना जा रहा है। अचार्यो की माने तो 25 फरवरी को रात्रि चतुर्दशी तिथि न होने से 24 फरवरी की रात्रि  को ही महाशिवरात्रि का पर्व शास्त्र सम्मत माना जा रहा है। अर्ध्य रात्रि के समय ब्रम्हाजी के अंश से शिवलिंग प्रकट हुआ था, इसलिए रात्रि व्यापिनी चतुर्दशी का अधिक महत्व होता है। दोनो ही दिन सिद्ध योग पड रहे है। 24 को चतुर्दशी प्रारंभ होने के साथ ही भद्रा लग जाएगी, लेकिन भद्रा पाताल लोक में होने के कारण महाभिषेक में कोई बाधा नही होगी।

इसबार विशेष संयोग होने के कारण शिव पूजन 24 को सुबह 4.30बजे के बाद प्रारम्भ किया जायेगा और उदयातिथि होने के कारण इसी तिथि को शिवरात्रि मनाई जायेगी। शिव का करें महाभिषेक भोले नाथ को गाय के दूध से अभिषेक कराने से पुत्र प्राप्ति की मनोकमना पूर्ण होती है। भगवान शिव को गन्ने के रस, दही, घी, शर्करा मिश्रित जल, कुश मिश्रित जल, शहद, सरसों के तेल से अभिषेक कराये। व्रत आदि रखकर शिवलिंग पर बेलपत्री, फूल, पंचमेवा और काला धतूरा आर्पित करे। शिव के सम्मुख कुबेर मंत्र का जप करे। गन्ने के रस व कच्चे दूध से प्रभु को स्नान कराए, व्रत व उपवास रखने के साथ दान-पुण्य भी करे।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here