डेढ़ महीने में दो डकैतियों से दहला दून

0
117

देहरादून(ब्यूरो)- बीती 27अप्रैल को तडके तीन बजे डालनवाला निवासी सुमित टंडन के घर हथियारबंद डकैतों ने जमकर लूटपाट की और घर के लोगों को घायल भी कर दिया| करीब डेढ़ महीने बाद मंगलवार सुबह भी ठीक उसी अंदाज में सिद्धपुरम हर्रावाला में सीआईएसएफ के अधिकारी के घर को डकैती की वारदात हुई है।

डकैतों अफसर के बच्चों को बंधक बनाकर घर में जमकर लूटपाट को और नगदी, जेवर लेकर फरार हो गए । मौके पर पहुंचे डी आई जी गढ़वाल पुष्पक ज्योति और एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने पीड़ित परिवार से मुलाक़ात कर आरोपियों की तलाश के लिए निर्देश दे दिए|

सबसे बड़ा सवाल उठ रहा है कि आखिर फिर से उसी अंदाज में इतनी बड़ी वारदात की पुनरावृति कैसे हो गई। डालनवाला में हुई डकैती में पुलिस डेढ़ महीने बाद भी खाली हाथ है लेकिन ना तो इससे कानून व्यवस्था में सुधार हुआ और न ही अपराध रुके।

पुलिस के मुताबिक डोईवाला थाना क्षेत्र के अंतर्गत हर्रावाला में सीआईएसएफ के सहायक कमाडेंट के घर में घुसकर बदमाशों ने उनके दो बेटों को कमरे में बंद कर दिया। इसके बाद बदमाशों ने पूरा घर खंगाल दिया। पुलिस के अनुसार सुनील कुमार ढौंडियाल सीआईएसएफ में असिस्टेंड कमांडेंट हैं। उनकी तैनाती देहरादून से बाहर है। घर में पत्नी और दो बेटे देहरादून में रहते हैं। बताया जा रहा है कि सुनील की पत्नी तरुणा गत दोपहर रिश्तेदार के घर चली गई। घर में दोनों बेटे थे।

देर रात करीब ढाई बजे छह बदमाश घर में घुसे और दोनों बेटों को कमरे में बंधक बना लिया। हथियार के बल पर बदमाशों ने उन्हें डराया और पूरा घर खंगाला। घर से बदमाश लैपटॉप, मोबाइल, नकदी और जेवर लूट ले गए। पुलिस के अनुसार बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए विशेष टीम गाठित करने के निर्देश दिए गए हैं। पुलिस ने एक बदमाश का स्क्रैच भी जारी किया है।

कहाँ है पुलिस और सीपीयू-

राजधानी में अपराध को रोकने में दून पुलिस नाकाम साबित हो रही है। चौबीसों घंटे सतर्क रहने का दवा करने वाली दून पुलिस सुबह तीन बजे कहाँ है? इसका जवाब पुलिस के अधिकारीयों के पास भी नहीं है। डालनवाला में भी सुबह के तीन बजे बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया था और हर्रावाला में बदमाशों ने यही समय चुना। जिससे साफ़ जाहिर होता है कि राजधानी पुलिस की सुबह के तीन बजे कहीं कोई मौजूदगी नहीं है। दून पुलिस के ये हाल तब हैं जब राजधानी में विधानसभा सत्र को लेकर चप्पे चप्पे पर पुलिस तैनात है साथ जिले के बहार से भी अतिरिक्त पुलिस बल यहाँ तैनात किया गया। वाबजूद इसके अपराधी पुलिस की नाक नीचे वारदातों को अंजाम दे रहे हैं।

वहीं स्ट्रीट क्राइम को रोकने के लिए बनी सी पी यू महज चालान की कार्रवाई तक सीमित है। अपनी नाक बचाने के लिए दून पुलिस ने आनन् फानन में एक संदिग्ध का स्कैच जारी कर अपनी कार्रवाई दिखाने की कोशिश की है लेकिन अपराधी कब तक सलाखों के पीछे होंगे ये जवाब दून पुलिस के पास भी नहीं है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY