दो बार मंत्री रहे पूर्वांचल के कद्दावर नेता ने ली अंतिम सांसे

0
77
क्रेडिट-पत्रिका

बलिया(ब्यूरो)- सूबे के दो बार मंत्री रहे पूर्वांचल के कद्दावर नेता बच्चा पाठक ने अंतिम सांस रविवार को काशी स्थित गलैक्सी अस्पताल में ली। वे 90 वर्ष के थे। उनका अंतिम संस्कार सोमवार को गंगा नदी के पचरूखियां घाट पर होगा। इससे पहले पैतृक गांव खानपुर से उनकी शव यात्रा निकाली जायेगी। उनके  निधन की सूचना मिलते ही जिले में शोक की लहर दौड़ गयी।

बलिया के बांसडीह विधान सभा से पहली बार 1969 में विधायक बने बच्चा पाठक ने जनसेवा के बदौलत जन-जन के दिल में जगह बना लिये। 1974, 1977, 1980, 1991, 1993 व 1996 में बांसडीह विधान सभा की जनता ने अपने प्रिय नेता बच्चा पाठक को विधान सभा में भेजने का काम किया। 1980 से 1985 तक सूबे का पीडब्ल्यूडी व सहकारिता मंत्रालय की कमान संभाल चुके बच्चा पाठक को 1996 में पर्यावरण एवं वैकल्पिक उर्जा मंत्रालय मिला। राजनीति में कदम रखने के साथ बच्चा पाठक ताउम्र कांग्रेसी ही बने रहे। इधर, कुछ दिनों से अस्वस्थ चल रहे पूर्वांचल के इस नेता का इलाज वाराणसी के गलैक्सी अस्पताल में चल रहा था, जहां रविवार को उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके पुत्र पद्युमदेव पाठक रेवती ब्लाक के प्रमुख रह चुके है, जबकि पुत्रवधू वर्तमान में रेवती ब्लाक की प्रमुख है।

रिपोर्ट- संतोष कुमार शर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here