यू. एस. ने भारतीय तीरंदाजों को वीजा देने से इंकार किया

0
160

विश्व युवा तीरंदाजी प्रतियोगिता में भाग लेने जा रहे ३१ भारतीय प्रतियोगियों  में से २० को यू. एस. एम्बसी ने वीजा देने से इंकार कर दिया है |इंडियन आर्चरी एसोसिएशन के कोषाध्यक्ष श्री सचदेवा के अनुसार ” वीजा न देने के कारण का जो तर्क यू. एस. एम्बसी की तरफ से आया है वह बहुत ही चौकाने वाला है, प्रतियोगोता में भाग लेने वाले प्रतियोगियों में ज्यादातर आसाम, झारखण्ड, उत्तरप्रदेश और पंजाब से है जिनकी अंग्रेजी बहुत अच्छी नही है ” इस वजह से जब वीजा अधिकारीयों ने पुछा आप what they do for living…. ? खिलाडियों ने सीधा सा जवाब दे दिया हम तीरंदाजी के खिलाडी हैं तीरंदाजी करते हैं,

archery1_n

 

व्यक्तिगत इंटरव्यू के समय वार्तालाप की कमी वीजा न देने का कारण हो सकती है लेकिन लिम जो कि विश्व  तीरंदाजी में एक जाना – माना  नाम है का वीजा जारी न करने की वजह समझ नही आ रही है , एम्बसी के लोगों ने यह कहते हुए वीजा देने से इंकार कर दिया की ” हमें ऐसा लगता है कि ये खिलाडी प्रतियोगिता खत्म होने पर वहां से वापस नही आएंगे ”

सचदेवा ” ज्यादा चौकाने वाली बात ये है की भारत सरकार का  मंजूरी पत्र और यू. एस. आर्चरी एसोसिएशन के बुलावे पत्र के बाद भी वीजा जारी नही किया गया ”

हमने इस सम्बन्ध में विदेश मंत्रालय को भी जानकारी दी है पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नही मिली है |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

5 × five =