कोर्ट ने कुछ शर्तों के साथ ‘उड़ता पंजाब’ के रिलीज़ का रास्ता साफ़ किया |

0
415

udta-punjab

बंबई उच्च न्यायालय ने सोमवार को ‘उड़ता पंजाब’ को बड़ी राहत देते हुए केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) की ओर से प्रस्तावित 13 कट को खारिज कर, अदालत ने एक कट एवं तीन वैधानिक चेतावनियों (डिस्क्लेमर) के साथ फिल्म की रिलीज का रास्ता साफ कर दिया है |

न्यायमूर्ति एस.सी. धर्माधिकारी और न्यायमूर्ति शालिनी पनसालकर-जोशी की खंडपीठ ने सेंसर बोर्ड को फिल्म के लिए ‘ए’ प्रमाण-पत्र जारी करने का भी आदेश दिया है, फिल्म 17 जून को रिलीज होने वाली है |

अदालत ने ये बातें ‘उड़ता पंजाब’ की निर्माता कंपनी फैंटम फिल्म्स की ओर से दाखिल एक याचिका पर अंतिम सुनवाई के दौरान कहीं, अदालत ने कहा कि रचनात्मक अभिव्यक्ति की आजादी पर किसी तरह की रोक नहीं है, किसी फिल्मकार को निर्देशित नहीं किया जा सकता कि वह क्या बनाए और क्या न बनाए |

बंबई उच्च न्यायालय के फैसले के बाद केजरीवाल ने ट्वीट किया, “उड़ता पंजाब पर फैसला मोदी सरकार के असहिष्णुता के शासन पर जोरदार तमाचा है |”

फिल्मी दुनिया के लोगों ने बंबई उच्च न्यायालय के फैसले की सराहना करते हुए कहा कि सीबीएफसी के पास फिल्म को प्रमाणित करने का अधिकार है न कि उसे सेंसर करने का |

अभिषेक चौबे निर्देशित ‘उड़ता पंजाब’ में शाहिद कपूर, आलिया भट्ट, करीना कपूर और दिलजीत दोसांझ मुख्य भूमिकाओं में हैं |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here