बेखौफ लकड़ी ठेकेदार हरे पेड़ों पर चला रहे हैं कुल्हाड़ी पुलिस और वनविभाग बना अंजान

0
56

हसनगंज/उन्नाव (ब्यूरो) – जहाँ अभी सरकार ने ग्राम पंचायतों में वृक्ष लगाने के लिए लाखों रुपये खर्च किए। वहीं हसनगंज कोतवाली क्षेत्र में पुलिस व वनविभाग के गठजोड़ से ठेकेदारों ने हरे आम के पेड़ों पर कुल्हाड़ी चलाकर धराशायी करने में जुट गए हैं। पुलिस प्रशासन जानकर भी अंजान बना हुआ है।  मालूम हो कि हसनगंज कोतवाली क्षेत्र के ग्राम पूरा बरौना में ग्राम प्रधान राम सेवक सिंह उर्फ भागी सिंह के हरे आम का बाग बिक्री किया है। जिसको लकड़ी ठेकेदार दिन और रात को पुलिस व वनविभाग की मिलीभगत से आम के हरे पेड़ो पर आरे चला रहे हैं। और पुलिस व वनविभाग जानते हुए मूकदर्शक बना हुआ है।

जबकि सरकार एक तरफ वृक्ष लगाने के लिए ग्राम पंचायतों में हरे वृक्ष लगाने का अभियान चला रही हैं।जिस पर अभी स्वतंत्रता दिवस के दिन पेड़ लगाने पर लाखों रुपये खर्च कर चुकी है। जिस पर आला अधिकारियों ने भी ग्रामीणों से लेकर युवाओं को पेड़ लगाने के लिए संकल्प दिलाया गया।और पर्यावरण को बचाने के लिए ग्राम प्रधानों को पेड़ों को लगाने का पाठ पढ़ाया गया। तथा हर व्यक्ति को कम से कम एक पेड़ लगाना जरूरी बताया गया। जिसको प्रभारी बी डी ओ अजय प्रताप सिंह बीते 15 अगस्त को एक लाख वृक्ष लगाने का लक्ष्य पूरा करके हसनगंज ब्लाक को तहसील में प्रथम स्थान पर खड़ा किया था।

लेकिन पुलिस व वनविभाग की खाऊ कमाऊ नीति के चलते प्रतिबंधित हरे पेड़ों पर बेखौफ आरे व कुल्हाड़ी चलाकर खुलेआम सरकारी आदेशों निदेॅशो की धज्जियां उडा रहे हैं। जिसका नतीजा है ग्रामीणों ने बताया कि कोतवाली हसनगंज के पूरा बरौना निवासी प्रधान रामसेवक सिंह के सात आम के पेड़ व एक पेड़ जामुन का रजपाली पुत्र सलखे निवासी कोनई , राम चन्द्र, मुकेश , राजेश , निवासी सराय चंदन आदि ने पुलिस व वन विभाग से सेटिंग गेटिंग करके बेखौफ हरे पेड़ काट ले गये।हालांकि हरे पेड़ों के कटान के संबंध में जानकारी से साफ इंकार किया है।

रिपोर्ट – राजेंद्र आजाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here