योगी सरकार के निर्णय से बेरोजगार हुए कुरैशी

0
96

पुरवा(उन्नाव ब्यूरो)- सदियो से पीढ़ी दर पीढ़ी गोस्त काटकर बेचने वाले कुरैषी परिवारों के लाखो नव जवान तथा उनके बच्चे आज भुखमरी की कगार पर पहुंचं गये है नगर पंचायतों व नगर महापालिकाओं में लाइसेंसधारक कुरैषी परिवार जो गोस्त काटकर बेचने का कार्य करते थे सरकार द्वारा अवैध बूचड़खानो पर रोक लगाने का फरमान जारी होने पर सरकार द्वारा लाइसेंस प्राप्त दुकानदारों पर भी रोक लगा दी गयी जिससे आज उन दुकानदारों के सामने तथा होटल चलाने वाले प्रदेष के लाखो मुस्लिम परिवार भुखमरी की कगार पर पहुंच गये है यदि यही हाल रहा तो सब का साथ सबका विकास का नारा केवल नरा ही बन कर रह जायेगाा।

प्राप्त विवरण के अनुसार सूबे में योगी सरकार बनते ही चुनावी वादों के मुताबिक प्रदेष के मुख्यमंत्री ने अवैध रूप स ेचल रहे बूचड़खानो पर प्रतिबन्ध लगाने का फरमान जारी किया था परन्तु प्रषासन ने उन लोगो की दुकाने भी बन्द करा दी जो सदियों से पीढ़ी दर पीढ़ी सरकार द्वारा लाइसेंस प्राप्त कर अपनी दुकानरों में गोस्त का व्यापार करते थे आज उन परिवारों के सामने रोजी-रोटी की समस्या खड़ी हो गयी नगर पंचायत नगर पालिकायें भी इन लाइसेंस धारकों के साथ सौतेला व्यवहार करते नजर आ रहे है पुरवा, मौरावां नगर पंचायतों ने अब तक सलाटर हाउस जो टूटे-फूटे पड़े है उनकी न मरम्मत करा रही है नही उन लाइसेंस धारकों को गोस्ट काट कर बेचने की इजाजत दे रही जब की सरकार ने अवैध बूचड़ खानो को बन्द करने का फैसला लिया था जो स्वागत योग्य योगी का फैसला है अब सवाल उठता है कि मछली बेचने वाले खुला आम बजारो में मछली बेचने का कार्य कर रहे है| जिनके पास नगर पंचायत से कोई लाइसेंस नही है जबकि जीव हत्या का मतलब तो मछली, मुर्गा, बकरा, भैसी, भैसा सब पूर्ण रूप से बन्द होना चाहिये जबकि पुरवा-मौरावां के लाइसेंस धारक वह परिवार जिनके के यहां सदियों से पीढ़ी दर पीढ़ी गोस्त काटने व बेचने का व्यापार होता चला आ रहा हैै तो नगर पंचायते इन परिवारों के साथ सौतेला व्यवहार क्यों कर रही है जबकि 21 मार्च को कुरैषी परिवारो ने जिलाधिकारी अदिति सिंह व उपजिलाधिकारी राजमुनि यादव तथा अधिषाषी अधिकारी नगर पंचायत उमेष कुमार मिश्र को प्रार्थना-पत्र देकर रोजी रोटी की समस्या बताई परन्तु आज तक इनकी समस्या का कोई हल नही निकाला गया यदि यही हाल रहा तो इन से जुड़े लाखो परिवार भुखमरी की कगार पर पहुंच जायेंगे और इस पेसे से जुड़े परिवार सड़क पर आजायगे।

रिपोर्ट- मो. अहमद 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY