दो दशकों के बाद मिला महाविद्यालय को एक शिक्षक

0
87


दलसिंहसराय/समस्तीपुर (ब्यूरो) : ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय की अंगीभूत इकाई स्थानीय आरबी कॉलेज में लगभग दो दशक बाद दर्शन शास्त्र विभाग में सहायक प्रोफेसर के रूप में संजीव कुमार ने अपना योगदान दिया है | इससे छात्रों को उम्मीद जगी है कि उनके इस विषय की पढ़ाई अब नियमित हो पाएगी, हालांकि सरकार ने नवनियुक्त सहायक प्रोफेसर के रूप में अंग्रेजी विभाग में भी प्रतिभा पटेल नामक सहायक प्रोफेसर की नियुक्ति की घोषणा की है |

मगर अभी उन्होंने अपना योगदान नहीं दिया है. बताते चलें कि लगभग दो दशक से भौतिक विज्ञान, अंग्रेजी, गणित, जंतु विज्ञान रसायन शास्त्र, सहित अन्य विषयों में यहां एक भी प्राध्यापक नहीं है, इससे छात्रों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. इस संबंध में कितनी बार विश्वविद्यालय स्तर से लेकर सरकार तक बैठे लोगों का ध्यान आकृष्ट करवाया गया है |

साथ ही स्थानीय जनप्रतिनिधियों पर भी इसके लिए लगातार दवाब बनाया गया है, अब लगता है कि छात्रों की इस समस्या का समाधान करने की पहल शुरू हो गई है, इस संबंध में कॉलेज के प्रधानाचार्य का कहना है कि सरकार द्वारा बहाली की प्रक्रिया की जा रही है, उम्मीद है शीघ्र ही महाविद्यालय में सभी विषयों के शिक्षकोें की नियुक्ति कर दी जाएगी |

रिपोर्ट – रंजीत कुमार

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY