उन्नाव पुलिस अधीक्षक ने सर्किल पुलिस की कार्यप्रणाली पर नाराजगी ब्यक्त की

0
226

पुरवा/उन्नाव (ब्यूरो)- पुलिस अधीक्षक ने सर्किल पुलिस की पुलिस की कार्य प्रणाली लम्बित विवेचनाओं पर नाराजगी व्यक्त करते हुए निस्तारण में तेजी लाने के दिये निर्देश लापरवाही बरतने पर कार्यवाही बरतने के सवाल पर सख्त कार्यवाही का फरमान सुनाया।

प्राप्त विवरण के अनुसार बृहस्पतिवार को पुलिस अधीक्षक नेहा पाण्डेय ने सरकिल पुलिस की कार्यप्रणाली की जांच की लम्बित विवेचनाओं के सन्दर्भ में कहा कि निस्तारण समय से न होने की दशा में पीड़ित को न्याय देने में देरी होती है कप्तांन ने बुजुगों की समस्याओ में त्वरित निस्तारण की हिदायत देते हुए कहा कि समय-समय पर मीटिंग बुलाकर बुजुर्गों से बात करें।

सनद रहें कि उन्नाव में घटनाओं का ग्राफ बढ़ जाने से कप्तान मुस्किल मंे है उन्हें अपनी कुर्सी सरकती नजर आ रही है यही वजह है कि वह पुलिस की रफ्तार बढ़ाने के लिए सरकिल वार भाग दौड कर रही है पुरवा कोतवाली को उन्होंने असोहा मौरावा, सोहरामऊ व पुरवा में लम्बित विवेचनाओं का ब्योरा तलब किया यह नही निस्तारण में हीलाहवालीक ररेन वालों को कार्यवाही का खौफ दिया तेजी लाने को कहा पुलिस अधीक्षक ने निर्देशित करते हुये कहाकि जांच में विलम्भ होने से न्याय मिलने में देरी होती है। दौरान समीक्षा कप्तान ने पाया कि असोहा व पुरवा में 42-42 विवेचनाएं लम्बित है जबकि मौरावां में 50 मामले जांच की परिधि में ंहै। कप्तान ने नाराजगी जताते हुये आदेश दिया कि समय से निस्तारण कार्य पूरा करें अन्यथा कार्यवाही ही एक मात्र रास्ता है।

बुजुर्गों की समस्याओं के प्रति गम्भीर पुलिस अधीक्षक नेहा पाण्डेय ने कहाकि समय पर मीटिंग बुलाकर समस्याये जाने। निस्तारण प्राथमिकता से करें। तीन घण्टे की समीक्षा बाद कप्तान ने कार्यालय जाकर अभिलेखो का रखरखाव देखा इस दौरान क्षेत्राधिकारी सुशील कुमार सिंह, कोतवाली प्रभार अरविन्द सिंह, थानाध्यक्ष मौरावां दिनेश कुमार मिश्रा, असोहा से जे0पी सिंह के अलावा सर्किल के सभी थानाध्यक्ष व सब इंसपेक्टर मौजूद रहें।

रिपोर्ट- मोहम्मद अहमद (चुनई)

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here