यू.पी.-100 पुलिस को सनसनीखेज घटनाओं की गलत सूचना देने वाला आखिरकार गिरफ्तार

0
243

top100

भदोही- जिले सहित कई जनपदो की पुलिस को गलत सूचना पर परेशान करने वाला आखिरकार पुलिस की चंगुल मे चढ़ ही गया। इस सम्बन्ध मे बताया गया कि थाना गोपीगंज अन्तर्गत डियूटीरत यू.पी. 100 वाहन के पुलिस कर्मी को लखनऊ कन्ट्रोल रूम से सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम धनापुर में गुलाब पासी नामक व्यक्ति की हत्या करके लाश को तालाब में फेक दिया गया है।

इस सूचना पर थाना गोपीगंज की यू.पी.-100 की दो वाहन सूचना को सत्यापित करने के लिये धनापुर गांव पहुचती है, हत्या जैसी गंभीर घटना की सूचना पर प्रभारी निरीक्षक मनोज पाण्डेय अपने हमराह पुलिस बल के साथ ग्राम धनापुर पहुँच गये। ग्राम वासियों से प्राप्त सूचना के बारे में पूछताछ कर घटना को सत्यापित किया गया तो सूचना झूठी पायी गयी।

सूचना देने वाले ने अपना नंबर 8726694577 का प्रयोग करते हुए लगातार 5 बार 100 नंबर डायल करके सूचना दी थी| सूचना देने वाला पुलिस के सम्पर्क में नही आ रहा था। सूचना देने वाले ने पुनः सूचना दिया कि हत्या रामपुर घाट पर हुई है। जिसके बाद थाना गोपीगंज व डायल-100 की वाहनें रामपुर घाट पहुँच कर सूचना को सत्यापित करने का प्रयास किया परन्तु वह सूचना भी झूठी पायी गयी। थोड़ी देर बाद सूचना देने वाले ने 100 नम्बर डायल करके पुनः सूचना दिया कि मेरे भाई की हत्या हो गयी है तथा अपना नाम अखिलेश बताया। इस सूचना को भी सत्यापित करने का प्रयास किया गया परन्तु यह घटना भी पहले की ही तरह सत्यापित नही हुई।

बाद कि सूचना देने वाले ने अपना मोबाइल बन्द कर लिया। लगभग 4-5 घंटे तक स्थानीय पुलिस व जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी इस सूचना से परेशान रहे। बहुत प्रयासों के बाद भी सूचना देने वाला पकड़ा नही गया। चॅूकि सूचना देने वाले के द्वारा जघन्य अपराध की झूठी सूचना देकर अफरा-तफरी का माहौल पैदा कर दिया गया तथा अपना मोबाइल भी बन्द कर दी गई, जिससे दिन भर उहा-पोह की स्थिति बनी रही। इस प्रकरण की सूचना प्रभारी
निरीक्षक गोपीगंज द्वारा पुलिस अधीक्षक जनपद भदोही के साथ-साथ पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को भी दी गयी तथा इस सूचना का अंकन भी सरकारी अभिलेखों में किया गया।

पुलिस अधीक्षक डी.पी.एन. पाण्डेय द्वारा 100 नम्बर डायल कर झूठी सूचना देने वाले तथा इसका दुरूप्रयोग करने वाले व्यक्ति की तश्दीक एवं गिरफ्तारी हेतु श्याम शंकर पाण्डेय क्षेत्राधिकारी ज्ञानपुर के निर्देशन में उ.नि. सुनील कुमार वर्मा प्रभारी इंटेलीजेंस विंग/सर्विलांस के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच की एक टीम गठित की गयी। क्राइम ब्रांच द्वारा सूचना देने वाले मोबाइल नम्बर 8726694577 की कॉल डिटेल एवं गतिविधियों पर तत्काल कार्य करना प्रारम्भ किया गया।

इस क्रम में इलेक्ट्रॉनिक सूचनाओं के एकत्रीकरण एवं विश्लेषण करने के बाद यह पाया कि इस नम्बर के धारक द्वारा दिसम्बर-2016 से लेकर अब तक कुल 424 बार 100 नम्बर को डायल कर हत्या, मारपीट, छिनैती, अपहरण आदि की सूचना कन्ट्रोल रूम को दी गयी है। इस नम्बर के द्वारा जनपद भदोही, मीरजापुर, इलाहाबाद, कानपुर, लखीमपुर खीरी, प्रतापगढ़, रायबरेली, हरदोई, सुल्तानपुर, के कन्ट्रोल रूम को 100 नम्बर डायल कर फर्जी सूचना देकर परेशान किया गया है।

उक्त व्यक्ति व्दारा 23 एवं 24 दिसम्बर को जन्सा वाराणसी से ट्रेन पकड़ कर लखनऊ जाते वक्त एवं वापस इलाहाबाद लौटते समय रास्ते में पड़ने वाले सभी जनपदों के कन्ट्रोल रूम को डायल-100 पर काल करके फर्जी सूचना दिया गया है। इसकी फर्जी सूचना पर मुख्य रूप से जनपद मीरजापुर की यू0पी0-100 की दस वाहनें इसकी धर पकड़ के लिये परेशान रही तथा यह यू.पी.-100 के पुलिस कर्मियों के लिये सरदर्द बना रहा।

नई लान्च की गयी यू.पी.-100 की गाड़ियां इसकी हरकत से काफी भाग दौड़ की परन्तु सूचना देने वाला व्यक्ति पकड़ से बाहर रहा। 13 दिसम्बर 2016 से अब तक लगातार जनपद मीरजापुर के कोतवाली विन्ध्यांचल, कटरा कोतवाली, नगर कोतवाली, कछवां, थाना हलिया मुख्य रूप से प्रभावित हुए। इस व्यक्ति ने लगभग 350 कॉल 100 नम्बर पर किया है। इसके अलावा जनपद इलाहाबाद के नैनी थाना तथा जनपद लखीमपुर का मैलानी थाना, जनपद भदोही का
गोपीगंज थाना भी प्रभावित रहा।

रविवार 22जनवरी को इलेक्ट्रानिक साक्ष्यों के आधार पर क्राइम ब्रान्च की टीम के जवानों को रामपुर घाट के आस-पास धर पकड़ के लिये फैलाया गया था कि समय लगभग-11:30 बजे दोपहर में फर्जी सूचना देने वाले व्यक्ति को गोपीगंज-मीरजापुर बार्डर पर रामपुर घाट के पास से दौड़ाकर पकड़ लिया
गया। पूछताछ पर इसने अपना नाम बंधूराम पासी पुत्र शीतला प्रसाद पासी निवासी निफरा, गैपुरा थाना विन्ध्यांचल जनपद मीरजापुर बताया।

इसके पास से फर्जी सूचना देने वाला मोबाइल नम्बर 8726694577 आइडिया तथा एक एअरटेल की सिम तथा घटना में प्रयोग किया जा रहा मोबाइल सेट बरामद हुआ है। फर्जी सूचना देने की बात स्वीकार कर रहा है तथा यह भी बताया कि चूँकि यह टोल-फ्री नम्बर है जिसमें मेरा कोई पैसा खर्च नही हो रहा था। मै सूचना देने के बाद अपना मोबाइल बन्द करके स्थान बदल लेता था तथा दूर से पुलिस की गतिविधियों को देखते रहता था। चूँकि जिस नम्बर का मै प्रयोग करता था वह मेरे नाम पता पर नही था।

इसलिये पुलिस वाले मेरा नाम पता भी नही जान पाते थे। पकड़े गये व्यक्ति के विरूद्ध थाना गोपीगंज जनपद भदोही से सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर जेल भेजा जा रहा है। पकड़ा गया व्यक्ति मनबढ़ और बहके स्वभाव का है। इसकी गिरफ्तारी से यू.पी. 100 पर गलत सूचना देने वालों पर लगाम कसेगी।

इसके तहत अत्याधुनिक उपकरणों से सुसज्जित नयी इनोवा एवं बोलरो वाहन प्रदेश के प्रत्येक जनपद को प्रदान किया गया है। आम जन को तत्काल राहत मिले इसके लिये प्रत्येक थानों पर 3-4 यू.पी. 100 के वाहन उपलब्ध कराये गये है। जिसकी शुरूवात होने से 2-3 मिनट में यू.पी. 100 के पुलिस मौके पर पहुँचकर आम आदमी को मदद एवं शान्ति व्यवस्था सुनिश्चित कराती है।

शुरूआत से लेकर अभी तक इसकी उपयोगिता सार्थक रही है। जनपद मीरजापुर एवं भदोही में 13 दिसम्बर 2016 से यू.पी. 100 की भव्य शुरूआत की गयी है। इन वाहनों पर 24 घंटा पुलिस की मौजूदगी रहती है जो तत्काल सूचना को टेकप करती है। इस दौरान लोक सेवक को गलत सूचना देने वाले के विरूद्ध लगने वाली कानूनी धाराओं को भी बताया गया।

1- धारा-182 भादवि- इस आशय से गलत सूचना देना कि लोक सेवक अपनी विधिपूर्ण शक्ति का प्रयोग दूसरे की क्षति के लिये करें। इस धारा के दोषी के विरूद्ध 6 मास का कारावास व जुर्माने से दंडित किया जा सकता है।

2- धारा-177 भादवि- लोक सेवक को किसी प्रकार की गलत सूचना देना। इस धारा के दोषी के विरूद्ध दो वर्ष का कारावास व जुर्माने से दंडित किया जा सकता है।

3-धारा-203 भादवि- लोक सेवक को किये गये अपराध की सही सूचना न देकर गलत सूचना देना। इस धारा के दोषी के विरूद्ध दो वर्ष का कारावास व जुर्माने से दंडित किया जा सकता है।

इस प्रकार की गलत सूचनाओं का अपराध भारतीय दण्ड विधान के साथ-साथ आई.टी. एक्ट, साइबर क्राइम आदि में भी दण्ड का प्रावधान किया गया है।
गिरफ्तारी व बरामदगी करने वाली पुलिस टीम मे

1-उ0नि0 सुनील कुमार वर्मा प्रभारी इंन्टेलीजेंस विंग/सर्विलांस सेल |
2-उ0नि0 सतेन्द्र कुुमार यादव प्रभारी स्वाट टीम|
3-का0 सचिन कुमार झां
4-का0 राधेश्याम कुशवाहा
5-का0 इंदु प्रकाश गौतम
6-का0 ब्रज किशोर शर्मा
7-का0 सिकन्दर कुमार
8-का0 फैजान खां
9-का0ओमप्रकाश यादव
10-का0 अनन्तलाल यादव
सभी इंटेलीजेंस विंग/स्वाट टीम /सर्विलांस सेल/साइबर सेल के लोग शामिल रहे।
रिपोर्ट-दीपनारायण यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY