यू.पी. में बढ़ रहा है जंगल राज, कोतवाल को मार दी दिन दहाड़े गोली

0
413

प्रतापगढ़ – यू.पी. में जंगल राज आजकल इस कदर बढ़ गया है कि किसी को पुलिस का भय नहीं रहा है और यूँ कहें तो पुलिस को ही अब लोग जान से मार दे रहे है I यू.पी. के प्रतापगढ़ जिले में जिला अस्पताल के ठीक सामने स्थित होटल वैष्णवी में कल शाम तक़रीबन 8:30 बजे के आसपास ही प्रतापगढ़ के पूर्व कोतवाल और इंस्पेक्टर अनिल कुमार को बदमाशों ने गोली मार दी I

बदमाशों ने इंस्पेक्टर के ऊपर ताबड़तोड़ गोली चलाई और उस गोली की चपेट में आने से एक निजी कंपनी का सर्वेयर भी घायल हो गया है I इस घटना से पूरे के पूरे शहर में सन्नाटा पसर गया है I इस खबर के बाद पूरे के पूरे पुलिस विभाग में हडकंप मच गया है I

पुलिस ने होटल में काम करने वाले कुछ लोगों को हिरासत में ले लिया है और उनसे पूछताछ जारी है I

दूसरे को बचाने गए थे तभी मार दी गयी गोली –

इंस्पेक्टर अनिल कुमार को कानपुर से तबादले पर लाकर प्रतापगढ़ नगर का कोतवाल बनाया गया था लेकिन हाल ही में जिले में हुए एक अधिवक्ता इन्द्रमणि शुक्ल की हत्या के बाद जिले के एसपी ने उन्हें सस्पेंड कर दिया था I कल जिस समय यह घटना हुई उस समय जिला अस्पताल के ठीक सामने स्थित होटल वैष्णवी में अनिलकुमार अपने एक साथी के साथ रुके हुए थे I

तभी होटल के नीचे स्थित मॉडल शॉप से शोर शराबे और बाद में फायरिंग की आवाज आने पर इंस्पेक्टर अनिलकुमार तुरंत ही नीचे आ गए और उन्होंने वहाँ पर देखा कि 3 लोग गायघाट दहिलामऊ निवासी अभिषेक तिवारी (22) पुत्र प्रेमकिशोर को कुछ लोग मारने पीटने के साथ ही तमंचा निकालकर फायरिंग करने लगे।

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो इंस्पेक्टर बदमाशों से भिड़ गए। उनके बीच छीनाझपटी भी हुई। तभी एक बदमाश ने अनिल के सीने में गोली मार दी। जिससे वह खून से लथपथ होकर जेनरेटर के पास गिर पड़े । एक गोली अभिषेक के पेट को छूते हुए निकल गई।

गोली मारने के बाद तीनों ही बदमाश अपनी बाइक पर बैठकर फरार हो गए I लोगों ने उनका पीछा भी किया लेकिन उनका कुछ पता नहीं चला I पुलिस बदमाशों की तलाश में जगह-जगह छापे मारी कर रही है I लेकिन अभी तक पुलिस को कोई सुराग नहीं मिला है I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

five × 4 =