उपस्वाथ्य केंद्र खुद बीमार, कौन करेगा मरीजों का इलाज

0
157

saharsa hospital

सत्तर कटैया/सहरसा – सत्तर कटैया प्रखंड अंतर्गत बिशनपुर पंचायत के आरण गाँव स्थित उपस्वाथ्य केंद्र बदहाली के दौर से गुजर रहा है। व्यबस्था के लापरवाही से यह उपस्वास्थ केंद्र चिकित्सक के बिना खुद वर्षों से बीमार पडा है| आपको बता दें कि कभी यहाँ सैकड़ों मरीज ईलाज के लिए आते थे लेकिन डाक्टरों के बगैर आज यह अस्पताल खुद में ही बीमार पडा हुआ है |

बता दें कि यहाँ के लोगों के लिए अब तो झोला छाप चिकित्सक ही भगवान बनकर खड़े हो रहे है। कभी यहाँ चिकित्सक से लेकर नर्स तक की व्यवस्था हर समय उपलब्ध थी। लेकिन सरकार की लचर व्यवस्था से अब यहाँ कोई चिकित्सक व नर्स नहीं है। सरकार बेहतर स्वस्थ सेवा के लिए जहाँ लाखों करोड़ों रुपए खर्च करती है वही अधिकारियों की लचर व्यवस्था से आज कोई भी काम ठीक से नहीं हो रहा है वे सिर्फ अपना-अपना जेब भरने में ब्यस्त है |

सरकारी स्तर पर यहाँ के लोगों की जरुरत समझने का प्रयास कभी नहीं किया गया। विभाग तो राज्य के मुखिया को भी धोखा देने से जरा भी नहीं हिचकते है जब राज्य के मुखिया माननीय नितीश कुमार आरण मोर को देखने पहुँचे तो विभाग ने दिखावा करने में कोई कसर नहीं छोड़ा। सब अपने-अपने कार्य को बेहद सक्रियता से करने में जुटे हुए थे | लेकिन सीएम के चले जाने के बाद देखने तक नहीं पहुँच रहे है।

जहाँ मरीजों का इलाज होना चाहिए वह अस्पताल खुद बीमार है, यहाँ न कोई चिकित्सक व स्वास्थ्यकर्मी है और न ही कोई अधिकारी | एक समय यहाँ के चहुँ ओर गांव के मरीज इलाज के लिए आया करते थे। लेकिन बिभाग के लचर व्यवस्था से कही दूर सहरसा सदर अस्पताल या पंचगछिया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जाने को मजबूर है। ग्रामीणो ने बताया की स्थानीय जनप्रतिनिधि से लेकर सांसद, बिधायक व् स्वास्थ्य बिभाग के अधिकारी तक गुहार लगा चूके। फिर भी इस समस्या का समाधान नहीं हो पाया है। विभाग के पदाधिकारी इस केंद्र की तरफ झाँकने तक नही।
रिपोर्ट- विवेकानंद

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here