US ने भारत को सौंपी 271 ईलीगल माइग्रेंट्स की लिस्ट, लेकिन सुषमा ने किया नामंजूर

0
189
New Delhi: External Affairs Minister Sushma Swaraj 

नईदिल्ली– अमेरिकी सरकार ने भारत को 271 इलीगल माइग्रेंट्स की लिस्ट सौंप दी है। लेकिन भारतीय विदेश मंत्रालय ने उस लिस्ट को यह कहते नामंजूर कर दिया है कि जो लिस्ट अमेरिकी सरकार द्वारा उन्हें दी गई है उसमें आवश्यक दस्तावेजों की कमी है। साथ ही भारत सरकार ने इस संबंध में अमेरिकी सरकार को पत्र लिखकर आवश्यक दस्तावेजों की मांग की है। भारत सरकार ने यह साफ कर दिया है कि इन लोगों को भारत डिपोर्ट करने के लिए वेरिफिकेशन बेहद जरूरी है जब तक वेरिफिकेशन नहीं हो जाता है तब तक इन 271 लोगों में से किसी भी डिपोर्ट करने के लिए सर्टिफिकेट नहीं जारी किया जा सकता है। आपको बता दें कि यह सभी बातें विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज राज्यसभा में दी है।

सुषमा ने राज्यसभा में दिया जवाब-
आपको बता दें कि आज राज्यसभा में क्वेश्चन आवर के दौरान यह मुद्दा उठाया गया। सुषमा स्वराज ने एक लिखित सवाल के जवाब बताया कि अमेरिका द्वारा जिन 271 भारतीयों की लिस्ट हमे सौंपी गई है, उन सभी की डिटेल्स को वेरीफाई किया जाएगा जब तक यह वेरिफिकेशन पूर्ण नहीं हो जाता है। तब तक किसी भी व्यक्ति को डिपोर्ट करने का सर्टिफिकेट जारी नहीं किया जा सकता है। विदेश मंत्री ने आज संसद में कहा कि यह कहना सही नहीं होगा कि अमेरिका में ट्रंप प्रशासन आने के बाद अमेरिका की पॉलिसी इसमें कोई भी चेंज आया है।

अमेरिकी संसद में चार बिल हुए पेश लेकिन पास ना हो सका एक भी-
आज आपको बता दें कि संसद में कुछ सांसदों ने चिंता जताते हुए कहा था कि अमेरिका में ट्रंप एडमिनिस्ट्रेशन आने के बाद स्किल इंडियन प्रोफेशनल्स के साथ भी वहां की सरकार का बर्ताव बदला हुआ है जिस पर जवाब देते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा है कि एच-1बी और एल्बम वीजा को लेकर वहां की सरकार ने चार बिल पेश तो किए हैं लेकिन उनमें से एक भी बिल पास नहीं करवाया जा सका है विदेश मंत्री ने आज राज्यसभा में अपने भाषण के दौरान बताया कि भारत सरकार द्वारा अमेरिका को भारत की चिंताओं से अवगत करा दिया गया है। उन्होंने कहा कि हमने अमेरिकी सरकार को यह साफ कर दिया है कि इंडियन आईटी इंडस्ट्री से जुड़े लोगों का अमेरिका में ध्यान रखा जाना चाहिए उन्होंने कहा कि हमने अमेरिकी प्रशासन को यह भी साफ कर दिया है इंडियन आईटी प्रोफेशनल्स अमेरिका में किसी की भी जॉब्स को छीन नहीं रहे है बल्कि वह USA इकनॉमी को मजबूत करने में मदद कर रहे हैं।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY