उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने कहा गाय हमारी माता है और उनका वध करने वालों को भारत में रहने का कोई अधिकार नहीं

0
583

приказ о закреплении сварочного оборудования http://neiro.wtolk.ru/owner/varianti-kolorirovaniya-temnih-volos.html варианты колорирования темных волос हरिद्वार- हरिद्वार में गोपाष्टमी के अवसर पर आयोजित एक क्रायक्रम में बोलते हुए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा है कि गाय हमारी माता है और गाय का वध करने वाले किसी भी व्यक्ति को दंड देने के लिए हम किसी भी हद तक जायेंगे I

временное ограничение права выезда за пределы рф मुख्यमंत्री ने अपने वक्तब्य में कहा है कि गाय माता का वध करने वाले किसी भी व्यक्ति को कोई अधिकार नहीं है कि वह भारत की भूमि पर रहे है और उत्तराखंड में गाय का वध करने वालों के खिलाफ शख्त से शख्त कार्यवाही की जायेगी I

http://dagcsm.ru/priority/marki-tsentrobezhnih-nasosoviih-harakteristika.html марки центробежных насосовиих характеристика आपको बता दें कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत गोपाष्टमी के उपलक्ष में आयोजित एक क्रायक्रम में हिस्सा लेने के लिए हरिद्वार आये हुए थे और यहीं पर उन्होंने अपना यह बयान दिया है I रावत ने कहा है कि कोई भी व्यक्ति वह चाहे किसी भी धर्म या फिर संप्रदाय से हो इस बात का कोई मतलब नहीं है कि उसे गाय की हत्या करने की छूट मिलेगी I यदि कोई भी हमारी माता का वध करता है तो वह हमारा ही नहीं बल्कि समूचे भारत वर्ष का शत्रु है और ऐसे व्यक्ति को भारत में रहने का कोई अधिकार नहीं I

338 उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने कहा है कि गौ-हत्या करने वालों के खिलाफ सबसे पहले कानून उत्तराखंड की सरकार ने पास किया था I उन्होंने आगे कहा कि उत्तराखंड को पूरे विश्व में देवभूमि के नाम से जाना जाता है यह संतो की भूमि है और मेरे ऊपर संतो की बहुत कृपा है इसीलिए उनके द्वारा जो भी प्रस्ताव लाया जाता है वह उसे सहर्ष ही पास कर देते है I

физические свойства алканов алкенов алкинов मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड एक ऐसा राज्य है जहाँ पर गाय पालने के लिए जमीन सरकार स्वयं ही मुफ्त में देती है और इतना ही नहीं गाय के रखरखाव और उनके खान पान के लिए भी सरकार लोगों को मदद देती है I श्री कृष्णायन देशी गोरक्षा एवं गोलोक धाम सेवा समिति के संस्थापक महंत ईश्वरदास की सराहना करते हुए उन्होंने कहा है कि जितनी बड़ी गऊ सेवा महंत ईश्वरदास कर रहे हैं वह अपनेआप में एक चमत्कार से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि 2000 गायों की सेवा करना ईश्वर सेवा के समान हैं और मैं उन्हें इस कार्य के लिये साधुवाद देता हूं।