उत्तराखंड बेहाल, राहत अधिकारी मालामाल…..

0
231

एक प्राइवेट कंपनी के हेलीकाप्टर के डीजल के लिए 4 दिनों का 96 लाख रूपये भुगतान दिखाया गया है। फ़िलहाल एक्टिविस्ट की याचिका पर मुख्यमंत्री ने जाँच के आदेश दिए हैं।

123

पर क्या हमारी संवेदनाएं इतनी कमजोर हो गयी हैं कि इस भीषण आपदा के समय में भी हम अपने फायदे अलावा कुछ और नही सोच पाते, क्या हमारा तंत्र इतना जर्जर हो चुका है कि इस तरह के असंवेदनशील वयवहार को नज़रअंदाज़ कर दिया जाता है।

हम अनुरोध करते हैं की कम से कम ऐसे मौको पर तो खुद से ऊपर उठ कर सोचें।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

http://fm2100.ru/images/sitemap74.html схема межпредметные связи логопсихологии с другими науками nine + one =