वैशाली जिले के आठ विधानसभा सीट में कम से कम दो सीट अल्पसंख्यक समुदाय को मिलना चाहिए : फ़ैज़ी

0
88

हाजीपुर/वैशाली : ज़िले के महुआ अनुमणडल क्षेत्र के चेहराकला में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चेहराकला जदयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रखंड अध्यक्ष ,कारी जावेद अख्तर फैजी ने बताया के अल्पसंख्यक समाज के लोगों का, आज़ादी के बाद से अब तक सबसे ज़्यादा काम, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया है। इसके अलावह और नेताओं ने सिर्फ अल्पसंख्यक समुदाय को ठगने का काम किया है। वहीं कारी जावेद अख्तर फैजी ने मुख्यमंत्री नीतिश कुमार पर नाराज़गी ज़ाहिर करते हुए कहा की अफ़सोस इस बात की है,कि महुआ विधानसभा क्षेत्र में अल्पसंख्यक समाज की अच्छी खासी आबादी रहते हुए भी आज तक विधानसभा क्षेत्र में एक भी अल्पसंख्यक छात्रावास एवं उर्दू हाईस्कूल नही है। वक्फ बोर्ड की बहुत ज़मीन है लेकिन किसी काम की नहीं है। नाज़ायज ढंग से लोगों ने कब्ज़ा कर रखा है।

सही मायनों में वक्फ बोर्ड की ज़मीन पर अल्पसंख्यक छात्रावास, मोसाफीरखाना, उर्दू हाईस्कूल, लाइब्रेरी बनाने की ज़रूरत है।इसके लिए फैजी ने सूबे के वैसे नेता जो अल्पसंख्यक समाज को सिर्फ वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल किया, उन्हें जावेद अख्तर फैजी ने दोषी ठहराया। फैजी ने यह भी कहा के आज महुआ विधानसभा क्षेत्र की हालत बद से भी बद्तर है। लेकिन यहां के नेता चादर तान कर सोएं हुए है।और सिर्फ विकास करने वाले व्यक्ति को बदनाम करने का काम करते हैं। फैजी ने बताया के हमारे नेता माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का कहना है , कि हम सेवा भावना से काम करते हैं।वोट बैंक के लिए नहीं। जनता मालिक है। कारी जावेद अख्तर फैजी ने सूबे के मुख्यमंत्री से माँग करते हुए कहा कि ,वैशाली ज़िले में आठ विधानसभा सीट है । जिसमे कम से कम 2 भी टिकट अल्पसंख्यक समाज को मिलना चाहिये। यह महुआ विधानसभा क्षेत्र की आवाज़ है। साथ ही वैशाली ज़िला की जनता हमेशा असमाजिक तत्वों से परेशान रहती है। वैसे असामाजिक तत्वों की जगह जेल होना चाहिए जो समाज में नफ़रत फैलाने का काम करते हैं। इस पर माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी को गौर करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here