कोन क्षेत्र के वन विभाग की चौकियां बनी भ्रष्टाचारियों का अड्डा…

0
56

सोनभद्र(ब्यूरो)- वन प्रभाग ओबरा के कोन क्षेत्र में इन दिनों वन विभाग की चौकियाँ भ्रष्टाचार की भेट चढ़ चुकी है। जहा एक तरफ सरकार की मंशा है की गांव हो नगर या शहर सभी जगहों पर बढते हुए पर्यावरण प्रदुषण के रोक थाम के लिए वृक्षारोपण कराकर स्वच्छ वातावरण बनाने में करोड़ों रुपये खर्च कर रही है । वही दूसरी तरफ भ्रष्ट वन कर्मियों के चलते सरकार की योजनाओ पर पानी फेरा जा रहा है।

वन प्रभाग ओबरा के कोन क्षेत्र में विगत 14-15 वर्षों से वन कर्मी एक ही स्थान पर बने रहने से भ्रष्ट्राचार चरम सीमा पर पहुँच चुका है। आलम तो यह हैं कि बिना किसी डर भय के शाम होते ही सभी वन कर्मी खनन माफियाओ के साथ मिल बैठ कर मौज मस्ती करते दिखाई देते हैं।

सूत्रों की माने तो ओबरा रेंज के एक ही डिविजन में कई वर्षों से एक ही स्थान पर वन कर्मी बिराजमान है तथा खनन माफिया से मिलकर बेखौफ़ दिन दहाडे खनन तथा वन से वृक्षों को कटवा कर बेचते हैं।

सरकार के द्वारा दबाव के बाद भी इन वन कर्मीयों का कोन रेंज में खनन करवाना जंगल में पेड़ कटवाना इनका पेशा बन चुका है। इन वन कर्मियों का स्थानांतरण तो कई बार किये गये किन्तु अपने ऊँचे पहुच का हवाला देकर अपना स्थानांतरण रुकवा लिया जाता है। अब देखना यह है की योगी सरकार कितना इन भ्रष्टाचारियों पर कब तक नकेल कस पाती है।

रिपोर्ट- ज़मीर अंसारी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY