वन विभाग की लापरवाही के चलते पूर्व मुख्य मंत्री अखिलेश यादव के हरियाली प्रोजेक्ट मे फिर लगी आग पेड हुए खाक

0
103
प्रतीकात्मक फोटो
मैनपुरी (ब्यूरो)- जिले के किशनी क्षेत्र के किशनी बसैत मार्ग पर 85 हेक्टेअर भूमि मे फैले हरियाली प्रोजेक्ट के चौथे ब्लाक मे फिर लग गयी | आग इतनी भयंकर थी कि फायर ब्रिगेड को आग पर काबू पाना मुश्किल हो गया।

प्राप्त जानकारी के आधार पर बताया जा रहा है कि 25 मार्च 2013 को सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के द्वारा हरीसिंह पुर में करीब 50 हैक्टेअर जमीन मे 25 हजार पौधों का बृक्षा रोपड कराया गया था। विभाग द्वारा उचित देखभाल न होने व समय पर पौधों को पानी न मिलने से 50% पौधे सूख चुके है । जो कुछ बचे हुए थे तीन सप्ताह पहले लगी भयंकर आग मे वे भी पेड जल कर स्वाहा हो चुके । लेकिन बिभाग अपनी कुम्भ करणी नीद से नहीं जगा। जिसका एक नमूना फिर देखने को मिला जब हरियाली प्रोजेक्ट का चौथा ब्लाक भी आग की बलि चढ़ गया । जब हरियाली प्रोजेक्ट मे आग लगी तो वन बिभाग कोई कर्मचारी तक वहां आग बुझाने के लिए नही पहुँचा|

आग लगने की सूचना पर पहुँची फायर सर्विस के कर्मचारी आग बुझाने को लेकर लाचार दिख रहे थे | फायर सर्विस के कर्मचारी राम सिंह हैड कान्सटेबिल फायर सर्विस ने बताया कि किशनी ब्लाक मे दो समर लगे है लेकिन उन्हे नहीं पानी भरने दिया जाता कहा जाता है कि फायर सर्विस के लिये नही है| हम लोगो ने कई बार माँग की हम लोगो के लिये एक गड्डा खुदबा दिया जाए तो हम लोग वही से पानी भर लिया करे लेकिन हमारी कोई सुनता नही।

लाइट न होने पर पानी मिलता नही। अगर पानी की टंकी पर जाए तो वहा ही पानी नही मिल पाता है ऐसे में हम आग कैसे बुझा सकते है | राम सिह ने कहा अभी जो हम एक टैंकर पानी लाए है वह  पानी हम अपना डीजल देकर लाए है ।

रिपोर्ट- प्रमोद झा/आशीष  सक्सेना 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY