वाराणसी, बलिया, छपरा रेल खंड का दोहरीकरण एवं विद्युतीकरण का कार्य प्रारम्भ 

Representative

बलिया ब्यूरो : काफी लंबे समय के बाद पूर्वोतर रेलवे के वाराणसी-छपरा रेल खंड का दोहरीकरण एवं विद्युतीकरण का कार्य छपरा की ओर से प्रारंभ हो गया है। इस कार्य के पूर्ण होने से ट्रेनों के परिचालन में सुधार होने के साथ ही इसकी रफ्तार में भी वृद्धि हो जाएगी। वाराणसी मंडल के इस रेल खंड के दोहरीकरण एवं विद्युतीकरण की योजना को करीब एक वर्ष पहले स्वीकृति मिली थी। करीब 170 किमी लंबी रेल खंड के सिंगल लाइन रहने के कारण ट्रेनों के परिचालन में समय पालन सुनिश्चित करने में परेशानी हो रही है, जिसके दूर होने की संभावना है। पहले चरण में छपरा से लेकर औड़िहार तक फाउंडेशन का कार्य शुरू किया गया है, साथ ही पुल पुलिया का निर्माण कराया जा रहा है, और दूसरी रेल लाइन बिछाने के लिए मिट्टी भराई का कार्य तीव्र गति से चल रहा है।

मांझी के रेल पुल निर्माण ने भी पकड़ी गति
वाराणसी-छपरा रेल खंड पर मांझी में सरयू नदी के ऊपर रेल पुल का निर्माण कार्य भी अब गति पकड़ लिया है। यहां 19 पाए वाले एक किमी लंबे इस रेल पुल का निर्माण अगले वर्ष तक हर हाल में पूरा हो जाने की संभावना है। लगभग सभी पायों के आधा से अधिक कार्य हो गया है। इसी रेल खंड पर गौतम स्थान के बीच स्थित इनई और ब्रह्मपुर रेलवे पुल का निर्माण कार्य भी जोर शोर से चल रहा है।

राजधानी समेत दो दर्जन महत्वपूर्ण ट्रेनों का है आवगमन
इस रेल खंड के दोहरीकरण एवं विद्युतीकरण का कार्य हो जाने से ट्रेनों की रफ्तार में वृद्धि तो होगी ही, समय पालन सुनिश्चित करने में भी सहूलियत होगी। वाराणसी मंडल का यह महत्वपूर्ण रेलखंड हैं और इस रेल खंड से होकर राजधानी एक्सप्रेस समेत करीब दो दर्जन महत्वपूर्ण ट्रेनों का परिचालन होता है। इस रेल खंड के दोहरीकरण एवं विद्युतीकरण के साथ रेलवे ट्रैक का उन्नयन भी किया जाएगा। सिंगल लाइन रहने के कारण ट्रेनों के परिचालन में समय पालन सुनिश्चित करने में बाधा उत्‍पन्‍न हो रही है और औड़िहार से बलिया, छपरा की दूरी तय करने में ट्रेनों को दो घंटे के बदले चार पांच घंटे तक का समय लगता है। पैसेंजर ट्रेनों को तो चार से सात घंटे का समय लगता है। इस रूट से राजधानी एक्सप्रेस, सुपरफास्ट गंगा कावेरी, सुपरफास्ट स्वतंत्रता सेनानी, पवन एक्सप्रेस, सरयू यमुना एक्सप्रेस, सारनाथ एक्सप्रेस, सद्भावना एक्सप्रेस, हरिहर एक्सप्रेस, ताप्ति गंगा एक्सप्रेस, सुपरफास्ट ज्ञान गंगा एक्सप्रेस, साबरमती एक्सप्रेस, गरीब नवाज एक्सप्रेस, शब्दभेदी एक्सप्रेस, पूर्वांचल एक्सप्रेस आदि का परिचालन होता है।

जनसंपर्क अधिकारी, वाराणसी अशोक कुमार ने बताया कि वाराणसी-छपरा रेल खंड के दोहरीकरण तथा विद्युतीकरण का कार्य शुरू किया गया है। पहले चरण में पुल पुलिया का निर्माण कराया जा रहा है, तथा विद्युतीकरण के लिए फाउंडेशन का कार्य शुरू किया गया है। मिट्टी भराई का कार्य भी चल रहा है। पुल पुलिया का निर्माण कार्य पूरा हो जाने के बाद, कार्य में तेजी आएगी। अगले वर्ष तक कार्य को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। दोहरीकरण और विद्युतीकरण हो जाने से ट्रेनों की रफ्तार बढ़ जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here