विभाग की मिलीभगत से चल रही अंधाधुंध पंडों की कटाई

बलिया (ब्यूरो)- जहां एक तरफ प्राकृतिक संरक्षण के लिए सरकार वृक्षारोपण कर पर्यावरण संतुलन रखने के लिए सारी जुगत अपना रही है। पानी.की तरह पेड़ लगाने के लिए पैसा बहा रही है। वहीं पेड़ कटवा गिरोह विभागीय मिली भगत से हरे वृक्षों को काट-काट अपने मुनाफे के लिए प्रकृति को असंतुलीत करने मे लगे है। जिसका ताजा उदाहरण उस समय दिखा जब मनियर रेंज अंतर्गत सुखपुरा चौराहा के पास खुले आम हरे पेड़ की कटाई एवं ढुलाई मंगलवार को की जा रही थी।

ग्रामीणों की माने तो पेड़ कटवा गिरोह इन दिनों सक्रिय है। वे विभागीय मिली भगत से हरे पेड़ों की कटाई व ढुलाई करते है। यहां तक कि पुलिस भी इन को रोक पाने मे असमर्थ है। जब विभाग की इन पर कृपा बनी हुई है तो ऐसे में पेड़ कटवा गिरोह बिना चिंता के अपने काम को अंजाम दे रही है। ग्रामीणो का कहना है कि पहले यह गिरोह चोरी छुपे रात के अंधेरे में पेड़ काटने का कार्य करते थे। लेकिन अब यह गिरोह बिना किसी भय के दिन दहाड़े हरे पेड़ को काटकर खुलेआम नियमों को तार तार करने में लगे है। वहीं क्षेत्र के आरा मशीनों पर हरे पेड़ों की कटाई के बाद इन्हें बिना किसी नियम के बेच दी जाती है।

इस संबंध में वन विभाग के डीएफओं ने केवल जांच की बात कह कर बात को टालने में लगे है। उन्होंने स्वीकार किया कि हरे पेड़ कट रहे है। लेकिन पेड़ कटवा गिरोह पर कार्रवाई की बात पर को टालते रहे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY