बढ़ गयी विजय मल्ल्या की मुश्किलें – सुप्रीम कोर्ट ने दिए कुछ अहम आदेश

0
244

दिल्ली- आज सुप्रीमकोर्ट ने देश के मशहूर उद्योगपति विजय माल्या के मामले पर सुनवाई करते हुए कुछ अहम आदेश दे दिए है I सुप्रीम कोर्ट के इन आदेशों के बाद विजय माल्या की मुश्किलें और बढ़ सकती है I बता दें की विजय माल्या ने देश की सभी 17 बैंकों जिनसे उन्होंने लोन लिया था उन्हें ऑफर दिया था की वह सितम्बर तक सभी बैंकों को 4000 करोंड रूपये वापस कर देंगे I बैंकों ने आज सुप्रीम कोर्ट को बताया की उन्हें माल्या का यह ऑफर पसंद नहीं है और उनके इस ऑफर को सभी बैंकों ने 2 अप्रैल की बैठक में ही ठुकरा दिया था I

सुप्रीम कोर्ट ने आज माल्या से तीन मुख्या बातें पूछी है –
सुप्रीम कोर्ट ने माल्या से आज कहा है की 21 अप्रैल तक माल्या अपने और अपने परिवार की सभी संपत्ति (चल-अचल) देश और विदेश जहाँ भी उसका ब्यौरा सुप्रीम कोर्ट को दें I
इसके आलावा कोर्ट ने कहा है की माल्या यह भी बताये की वह खुद कोर्ट में कब उपस्थित हो सकते है, क्योंकि उनकी उपस्थित के बगैर नेगोशिएशन नहीं हो सकता है और किसी भी प्रकार के समझौते के लिए माल्या का कोर्ट में मौजूद होना बहुत आवश्यक है I
इसके साथ ही कोर्ट ने आज विजय माल्या से यह भी पूछ लिया है की जिन बैंकों को उन्हें इतना बड़ा अमाउंट कर्ज के तौर पर चुकाना है और वो बार बार इसका भरोषा भी दिला रहे है उसके लिए वो फिलहाल कोर्ट में कितना पैसा जमा करवा रहे है, जिससे कोर्ट को और बैंकों को इस बात पर भरोषा हो जाय की माल्या वास्तव में उनके कर्ज को लेकर गम्भीर है I

क्या है पूरा मामला –
बता दें की देश के मशहूर उद्योगपति और शराब किंग के नाम से प्रसिद्द विजय माल्या ने अपनी कंपनियों (किंग फिशर एयरलाइन्स) को चलाने के लिए देश की 17 प्रमुख बैंकों से लोन लिया था, इस लोन का टोटल अब ब्याज और मूल धन मिलकर तक़रीबन 9000 करोड़ या फिर इससे भी अधिक हो गया है I बता दें की पिछले काफी दिनों से विजय माल्या ने बैंकों को इंट्रेस्ट अमाउंट भी बैंकों को पे नहीं किया था I

माल्या के इस तरह के रवैये से परेशां होकर सभी बैंकों ने SBI के नेतृत्त्व में सुप्रीम कोर्ट में एक अर्जी डाली थी लेकिन जब तक सुप्रीम कोर्ट में इस मामले पर कोई सुनवाई होती विजय मल्ल्या देश छोड़कर जा चुके थे I वहीँ से विजय माल्या ने बैंकों को 30 सिप्तम्बर तक 4000 रूपये देने का भरोषा दिलाया था जिसे अब बैंकों ने रिजेक्ट कर दिया है I बता दें कुल 9000 करोड़ में से 1600 करोड़ रूपये तो केवल स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया के ही है I

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here