पिछले कई दिनों से पंचायत सचिवालय खुलने की आस में घंटो बैठे रहते हैं ग्रामीण

0
141

panchayat ghar
जरमुंडी : प्रखंड क्षेत्र में मुखिया एवं पंचायत सचिव की लापरवाही से पंचायत सचिवालय बंद रहता है और लाचार ग्रामीण सचिवालय के सामने घंटों बैठे इंतजार करते रहते हैं। यह ताजा मामला है भोड़ा बाद पंचायत सचिवालय का है | जिस पंचायत के मजबूर बेसहारा ग्रामीण बीते दिन सचिवालय खुलने की आस में घंटो बैठे रहे लेकिन कार्यालय नहीं खुला और थकहार के वे अपने घर वापस लौट गए। सचिवालय खुलने के आस में बैठे ग्रामीण रवि महतो, किशन गिरी, पार्वती देवी, तज मीरा देवी आदि ने बताया कि हम लोग सुबह 9 बजे से ही पंचायत कार्यालय के मुख्य द्वार पर बैठे हैं परंतु दोपहर तक सचिवालय का ताला नहीं खुला।

उन लोगों ने बताया कि दुधमुहे बच्चों को साथ लिए हम लोग लेबर कार्ड बनवाने के लिए हफ्तों से पंचायत सचिवालय का चक्कर काट रहे हैं, लेकिन पंचायत सचिवालय में किसी से भेंट नहीं हो रही है। यहां बता दें कि प्रखंड क्षेत्र के प्रायः सभी पंचायत सचिवालयों का हाल ऐसा ही है जो हफ्ते में एक दिन शायद बृहस्पतिवार को खाना पूर्ति के लिए खोला जाता है और ग्रामीणों की समस्याओं को नजरअंदाज करते हुए सिर्फ योजनाओं की सेटिंग सेटिंग का ही कार्य किया जाता है। अब ऐसे में इन लाचार ग्रामीणों का कार्य कैसे होगा।

रिपोर्ट – धनञ्जय कुमार सिंह

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY