ग्राम प्रधान की दबंगई से परेशान ग्रामीणों ने खण्ड विकास अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

0
156

सरेनी/रायबरेली(ब्यूरो)- जहां केंद्र की मोदी व प्रदेश की योगी सरकार स्वच्छ भारत मिशन योजना को लेकर गंभीर है और इसी गंभीरता को देखते हुए आने वाले जनवरी 2019 तक योगी सरकार प्रदेश को ओडीएफ करने का सपना देख रही है परंतु इसकी हकीकत यह है कि रायबरेली जिला के सरेनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली ग्राम सभा काल्हीगांव की हालत आज भी बद से बदतर है। ग्राम सभा काल्हीगांव में सरकार द्वारा शौचालय योजना का भी बुरा हाल है क्योंकि ज्यादातर घरों में शौचालय वितरण में अनियमितता कर सरकार के अरमानों पर पानी फेरा जा रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक यहां पात्रों की जगह अपात्रों को शौचालय का लाभ दिया गया जबकि जो पात्र हैं वो आज भी योजना से वंचित हैं।जिसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जिले में हो रहे समाधान दिवस में ज्यादातर मामले आपको शौचालय व आवास में हो रही धांधली के संबंध में ही मिलेंगे।

पर अफसोस की बात सरकार से लेकर जिले में बैठे उच्चाधिकारियों तक मामला संज्ञान में होने के बाद भी कोई कार्यवाही न होने से अनियमितता व धांधली करने वालों के हौंसले बुलंद हैं। खैर कुछ भी हो पर एक बात तो तय है कि जिम्मेदारों के इस लापरवाह रवैये से केंद्र व प्रदेश सरकार के स्वच्छ भारत मिशन में पलीता लगता जरुर दिख रहा है।गांव में जगह-जगह कूड़े कचडे के ढेर लगे हुए हैं वहीं नालियां चोक पडी हैं। सफाई कर्मी ब्लाक में बैठे मौज कर रहे हैं। शौचालय के संबंध में ग्राम सभा काल्हीगांव के वर्तमान क्षेत्र पंचायत सदस्य व प्रधान पद के पराजित प्रत्याशी सहित कई ग्रामीणों द्वारा खंड विकास अधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया है जिसमें वर्तमान क्षेत्र पंचायत सदस्य व प्रधान पद के पराजित प्रत्याशी ने आरोप लगाते हुए उल्लेख किया है कि वर्तमान प्रधान देशदीपक सोनी चुनावी रंजिश के कारण हम सभी प्रार्थी गणों को स्वच्छ भारत मिशन के लाभ से वंचित रखना चाहता है।

जबकि वर्तमान पंचायत सचिव को प्रार्थी गणों के आधार कार्ड एवं बैंक पास बुक की छायाप्रति 40 दिन पूर्व उपलब्ध करा दी गई थी। लेकिन प्रार्थी गणों को अब तक स्वच्छ भारत मिशन योजना का लाभ नहीं दिया गया है। साथ ही साथ ग्रामीणों ने यह भी कहा कि सभी प्रार्थी गण धनवान नहीं है और न ही उनके पास शौचालय हैं। इसलिए सभी प्रार्थी गणों ने आवेदन प्रेषित कर स्वच्छ भारत मिशन योजना से शीघ्र शौचालय दिलाए जाने की मांग की है।

ग्राम सभा काल्हीगांव से ठाकुर प्रसाद सोनी पुत्र आत्माराम, रामजी पांडेय पुत्र स्व. सिद्धनाथ, अजय त्रिवेदी पुत्र प्रभूशंकर, शशिकांत सोनी पुत्र आत्माराम, छोटे लाल सोनी पुत्र गुरु प्रसाद, रामनरेश पांडेय पुत्र सिद्धनाथ, राजकुमार त्रिवेदी पुत्र रामदत्त, विनोद कुमार दीक्षित पुत्र देवता प्रसाद आदि ग्रामीणों ने ज्ञापन सौंप उचित कार्यवाही की मांग की है व साथ ही साथ सभी कार्यों की जांच कर आवश्यक कार्यवाही की मांग की है।

ग्रामीणों का यह भी कहना है कि वह अधिकतर समय नौकरी के कार्य से बाहर ही रहते हैं यदि किसी को कोई आवश्यकता वश उनके पास जाना पड़ता है तो वह नदारद रहते हैं। वह दो तीन सप्ताह में शनिवार देर शाम व रविवार को मिलते हैं उसके उपरांत पुनः गांव से शहर के लिए कूच कर जाते हैं। उनकी अनुपस्थिति में जो ग्रामसभा के कार्य किए जाते हैं आखिर कैसे? यह भी सोचनीय है। साथ ही साथ ग्रामीणों ने यह भी बताया कि यदि किसी को किसी कागजात में मुहर व हस्ताक्षर की आवश्यकता होती है तो वह समय रहते कैसे हो पाएगा क्योंकि प्रधान जी तो ज्यादातर गांव से बाहर शहर में रहते हैं जो कि चिंतनीय है।

रिपोर्ट – सुधीर अग्निहोत्री 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here