गाँव वालों ने नहीं देखी कभी बिजली लेकिन विभाग ने भेजा 58666 का बिल

0
214

electricity bill

चकलवंशी/उन्नाव(ब्यूरो)- गांव का पैतिस वर्ष पूर्व विधुतीकरण हुआ था जिसमे सात लोगों ने कनेक्शन लिया था करीब पच्चीस वर्ष पूर्व लाइन कट जाने से गांव में लाइट नहीं आ रही है फिर भी हजारो रूपये के बिल, विभाग दारा भेजा जा रहा है।

आपको बता दें कि विकास खण्ड सरोसी क्षेत्र के गांव सभा बन्दा खेडा के मजरा धतता खेडा गांव में वर्ष 1982 में बिधुती करण हुआ था जिसमे सुरेश चन्द्र, बिपिन बिहारी मिश्रा, श्रीधर पाठक, रमाशंकर, शक्ति प्रकाश त्रिपाठी, जगदीश गुप्ता व राधेलाल जायसवाल सहित सात लोगों ने विधुत कनेक्शन लिया था चार वर्षों तक तो लाइट गांव में आती-जाती रही लेकिन उसके बाद जंगली खेडा से धतता खेडा गांव के बीच चोर विधुत तार काट कर अपने साथ ले गये |

बता दें कि तब से लेकर अब तक गांव के अंदर विधुत पोल तो खडे है लेकिन तार नहीं | उपभोक्ताओं ने बिधुत कनेक्शन कटवाने के लिए उन्नाव आफिस में प्रार्थना पत्र दिया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई गांव में लाइट आ नहीं रही है लेकिन विभाग बराबर बिल भेज रहा है |

ज्ञात हो कि बिना बिजली जलाय या फिर कहें तो बिना उजाले में रहे ही गाँव वालों को उजाले में रहने की कीमत चुकानी पड़ रही है और इसी क्रम में बताते चले कि विभाग द्वारा सुरेश चन्द्र पुत्र राम चन्द का 58,666 रूपये का बकाया बिल भेज दिया गया| अब सवाल यह खड़ा होता है कि जब लाइट ही नहीं आ रही है तो बिल किस बात का |

बता दें कि इस बाबत जब एस.डी.ओ. सफीपुर जय सिंह से बात की गई तो उन्होंने कहा हम बाहर है लौट के आयेगे तब इस बिषय मे बात करेगे | खैर कुछ भी हो यह तो सिर्फ एक गांव का मामला है ऐसा कई जगह हो रहा है कि कनेक्शन काटने का प्रार्थना पत्र देने के बाद भी विभाग लगातार बिल भेज कर मानसिक रूप से प्रताड़ित करता है| गाँव के निवासियों का कहना है कि मामले की जांच कर कार्रवाई की जानी चाहिए।
रिपोर्ट- अशोक दुबे
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY