महिला की मौत से गुस्साए ग्रामीणों ने किया मार्ग जाम, एसडीएम व सीओ के समझाने पर किसी तरह खत्म हो सका जाम

लालगंज/प्रतापगढ़(ब्यूरो) लालगंज कोतवाली के ढिंगवस अमिलिहन का पुरवा गांव में बीते दो दिनों पहले महिला की मौत को लेकर गुरूवार को आक्रोशित परिजनों के साथ ग्रामीणों ने जमकर हंगामा काटा। ढिंगवस बाजार में डेरवा जलेशरगंज मार्ग पर ग्रामीणों ने मृतका के शव को रखकर दो बार मार्ग जाम किया। इससे पुलिस व प्रशासन को जमकर पूरे दिन मशक्कत करनी पड़ी। हालात तब नियंत्रण में आ सका जब लालगंज के एसडीएम अभय पांडेय मौके पर पहुंचे और सीओ रमाकान्त यादव के साथ मृतक के परिजनों को महिला की मौत के मामले में निष्पक्ष प्रशासनिक कार्रवाई का भरोसा दिलाया।

कोतवाली के ढिंगवस अमिलिहन का पुरवा निवासी गुड्डन देवी (50) पत्नी राकेश सरोज की इलाहाबाद के स्वरूपरानी अस्पताल में आठ अगस्त को इलाज के दौरान मौत हो गई थी। दूसरे दिन महिला के शव का पीएम कराने के बाद परिजन शव लेकर रात में गांव पहुंच गए। गुरूवार को महिला की मौत विपक्षियों की पिटाई से होने का आरोप लगाते हुए मृतका के परिजनों के साथ ग्रामीणों ने ढिंगवस बाजार पहुंचकर डेरवा-धारूपुर मार्ग पर शव रखकर जाम लगा दिया। परिजनों का आरोप था कि पड़ोस के कुछ लोगों ने रंजिश के चलते महिला की पिटाई कर दी थी। जिसके चलते बुधवार को उसकी मौत इलाहाबाद में इलाज के दौरान हो गई। परिजनों की मांग थी कि जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक मृतका के घर पहुंचे और आरोपियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा जाए। रोड जाम करने की सूचना पर लालगंज व महेशगंज पुलिस मौके पर पहुंची।

पुलिस का कहना था कि पीएम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जायेगी। लेकिन परिजन तत्काल हत्या का मामला दर्ज करते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े रहे। इसकी जानकारी मिलने पर एसडीएम अभय पांडेय व सीओ रमाकान्त यादव मौके पर पहुंचे। परिजनों को समझा बुझाकर किसी तरह जाम हटाने को राजी किया। लेकिन कुछ देर बाद की किसी ने परिजनों व रिश्तेदारों को भड़का दिया, जिससे वे एक बार फिर से ढिंगवस पहुंच जाम लगा दिया। करीब एक घंटे की मान मनौव्वल के बाद जनप्रतिनिधियों के हस्तक्षेप व अफसरों के प्रयास से परिजन जाम हटाने को तैयार हुए। करीब तीन बजे परिजन शव लेकर घर चले गए तो प्रशासन ने राहत की सांस ली। इस बारे में एसडीएम अभय पांडेय का कहना है महिला की मौत की जांच के लिए पुलिस को निर्देश दिए गए हैं। दोषी पाए जाने पर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। गौरतलब है क्रिकेट खेलने के दौरान बीती 26 जुलाई को आपस में मारपीट हो गई थी। इस मामले में आशीष सरोज की तहरीर पर मृतका पक्ष के बबलू, डबलू समेत चार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई थी। इसी के चलते दोनों पक्षों में रंजिश बढ़ गई बताई जाती है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here