ग्रामीणों ने दन्नाहार थाने के सामने शव रखकर किया पुलिस पर पथराव

0
82

मैनपुरी ब्यूरो – बारह दिन के गायब युवक के शव की पहचान को लेकर परिजन और ग्रामीण पुलिस से भिड़ गए। दन्नाहार थाने के सामने शव रखकर जाम लगा थाने पर हमला कर दिया। फिर पुलिस पर पथराव कर दियाए जिसमें आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल हो गए और एक दर्जन वाहनों के शीशे टूट गए। इसके बाद पुलिस ने जमकर लाठियां भांजीं और रबर बुलेट दागी जिसमें दो दर्जन ग्रामीण घायल हो गए। करीब दो घंटे बाद हालात नियंत्रण में आए।दन्नाहार के गांव नगला आशा निवासी गुड्डू को 19 जुलाई को घर से नायकूड़ निवासी पटू अपने साथ ले गया था। मां शकुंतला ने पटू के खिलाफ अपहरण की नामजद रिपोर्ट लिखवाई।

रविवार को पुलिस ने पटू को गिरफ्तार किया तो उसने अपनी पत्नी से गुड्डू के अवैध संबंध होने के चलते हत्या कर शव गांगसी नहर में फेंके जाने की बात बताई। सोमवार शाम एक शव करहल के बुझिया में गांगसी नहर में मिला। परिजनों ने शव गुड्डू का बताया लेकिन डॉक्टरों का कहना था कि शव का पोस्टमार्टम पहले ही हो चुका है। साथ ही शरीर के कई अंग भी निकाले गए हैं। डॉक्टरों ने शव की उम्र 35 वर्ष बताईए जबकि गुड्डू की उम्र 23 वर्ष है लेकिन परिजन मानने को तैयार नहीं थे।

पुलिस ने डीएनए टेस्ट के लिए सैम्पल भी ले लिया।शाम साढ़े चार बजे ग्रामीण थाना दन्नाहार पहुंचे और ट्रैक्टर पर शव रख आगरा रोड पर जाम लगा दिया। ग्रामीणों का आरोप था कि पुलिस ने पटू से ठीक से पूछताछ नहीं की है। घटना में और भी लोग शामिल हैं। सूचना पर एसडीएम घिरोरए एसपी राजेश  थानों की पुलिस और पीएसी लेकर पहुचे तो भीड़ ने पुलिसकर्मियों और दन्नाहार थाने पर पथराव कर दिया। पुलिस ने लाठीचार्ज किया फिर भी लोग नहीं मानें तो रबर की गोलियां दागीं। इसके बाद दो किमी तक भीड़ को खदेड़ा। शाम साढ़े बजे स्थिति नियंत्रित हो पाई। एसपी राजेश बताया कि उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

रिपोर्टे -दीपक शर्मा 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here