साँड़ मारने वालो के खिलाफ कार्यवाही न करने से भड़के ग्रामीण, सैकड़ो की संख्या में घेरा थाना

0
222

WhatsApp Image 2017-01-28 at 12.53.52 PM
कुंडा( प्रतापगढ़) सूचना देने के बाद और मौके पर जाने के बाद भी साँड़ ( भैंसा) को मारने वाले आरोपी के खिलाफ पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही न करने से ग्रामीण भड़क उठें। नाराज सैकड़ो ग्रामीणों ने थाने का घेराव कर लिया। तहरीर लेने के बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने और आरोपी के खिलाफ कार्यवाही करने का आश्वासन दिया, तब कही जाकर ग्रामीणों ने थाना छोड़ा।

मामला कुंडा तहसील के महेशगंज थाना क्षेत्र के रायगढ़ गाँव का है। इस गाँव के डिंगूर सिंह का पुरवा, बला का पुरवा, गौरी का पुरवा मजरे के सैकड़ो ग्रामीणों ने संयुक्त रूप से चन्दा लगाकर एक साँड़ छोड़ा था, जिसकी देखभाल गाँव के सभी लोग करते थे।

शुक्रवार की शाम अहलादगंज का ही दूसरें सम्प्रदाय का एक व्यक्ति अपने साथियो के साथ भैंसे को लेकर अपने घर चला गया। जहां पर उसने भैंसे के चारो पैरों को बांधकर उसको नुकीले हथियार और लाठी डंडे से उसके नाजुक अंगों पर मारने लगा। जिससे साँड़ गंभीर रूप से घायल हो गया। ग्रामीणों ने भैंसे को मारते हुए देखा तो ग्रामीणों को साँड़ की हत्या करने की आशंका हुई तो उन्होंने इस बात की सूचना पुलिस को दे दी। सूचना पर डायल 100 की पुलिस मौके पर तो गई लेकिन आरोपियों को नहीं पकड़ा।
ग्रामीणों का आरोप है कि रात में पुलिस पुनः आरोपियों के घर गई लेकिन आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जबकि पुलिस उनकी बाइक थाने उठा लाई। आरोपियों के खिलाफ कोई कार्यवाही न करने से नाराज कई पुरवों के सैकड़ो ग्रामीणों ने पुलिस की कार्य प्रणाली से नाराज होकर शनिवार की सुबह थाने का घेराव कर लिया। बाद में आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने और उनकी गिरफ्तारी के आश्वासन के बाद ग्रामीण अपने घरों को लौटे।

पुलिसिया हनक पर भी नहीं झुके ग्रामीण, बोले भेज दो जेल

इसे कहते हैं एक तो चोरी, ऊपर से सीनाज़ोरी। महेशगंज पुलिस के ऊपर यह कहावत उस समय चरितार्थ हो गई जब गाँव में दो बार पुलिस के जाने के बाद भी आरोपियों को न पकड़ने पर ग्रामीणों ने थाने का घेराव किया।

ग्रामीणों का कहना था कि पुलिस आरोपी के घर दो बार गई। आरोपी की बाइक भी उठा लाई लेकिन आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया। अब जब हम सब थाने आये है तो हमको आचार संहिता के नाम पर जेल भेजने की धमकी दे रही है। ग्रामीण भी जब जेल जाने को तैयार हों गए तो स्थानीय पुलिस बैक फुट पर चली गई और रामबदन तथा भुल्लर यादव की तहरीर पर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आश्वासन दिया। तब कही जाकर ग्रामीण माने।

रिपोर्ट विश्व दीपक त्रिपाठी

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY