बारिश के चलते गांवों में भरा पानी, प्रशासन के हाथ-पैर फूले

0
43


मैनपुरी (ब्यूरो) मैनपुरी मे बारिश के चलते कई गांव में पानी भर गया है, जिससे गाव में रहने वालो का जीना दुस्वार हो गया है, लेकिन प्रशासन ने बारिस से निपटने के लिये पहले से कोई इनतेजाम नहीं किया था और जब अब गांव मे रहने वालो बच्चो का स्कूल ही जाना मुश्किल में पड़ गया है | तो प्रशासन के हाथ पैर फूलने लगे, सबसे बड़ी बात ये है कि प्रशासन को पता था कि गांव के पास तालाब है और सिर्फ एक ही रास्ता गाँव से निकलने का है। उसके बाद भी प्रषासन ने केाई भी इन्तेजाम नहीं किया और अब हाल ये है कि स्कूल जाने वाले बच्चों को पानी मे घुसकर स्कूल जाना पडता है और जरा भी पैर फिसला तो 15-20 फीट गहरे तालाब में कब गिर जाये पता ही नही जबकि कुछ बच्चो को तो उनको माता-पिता खुद पानी मे घुसकर स्कूल के लिये छोडने जाते है और जिनके माता पिता मजदूरी पर चले जाते है वो बच्चे जान-जोखिम मे डालकर स्कूल जाते है। वहीँ ग्रामीणों का कहना है कि कई बार कह चुके है प्रशासन से लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नही होती है और न कोई कार्यवाही होती है। इसमे गिरने से काफी चोटे भी आती है। जबकि ये गावं अब नगर पालिका मे भी आ चुके हैं। लेकिन फिर भी कोई कार्य नहीं हो रहा है, राहत के लिये।

जब पूरे मामले पर एस.डी.एम. मैनपुरी पूरे मामले पर बात की तो उनका कहना है कि ये गाव रोड से थोडा नीचे ढलान पर बो हुये है और बरसात का पानी पूरी गलियो मे भर गया था और इत्तेफाक से वहा तालाव भी अधिक न खुदा होने से बो भी भरगया था और सारा पानी सडको पर आ गया था जिसकी षिकायत मिल रही थी जिसको जे.सी.बी से खुदाई कराकर पानी का निकास नदी मे कराया गया है किन्तु आज फिर पानी बरसने से उसके वैकल्पिक व्यवस्था के लिये अभी तालाब खुदवाना सम्भव नही है जिसके लिये नगर पालिका ने ये व्यवस्था की है कि पाईप के माध्यम से खेतो के किनारे किनारे पाईप डालकर उस पानी को ईषन नदी में गिराया जा सके ताकि पानी निकलने के बाद हम तालाब खुदवाकर सारा पानी बापस गाव का उसी मेले जा सके।

रिपोर्ट – आशीष सक्सेना

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY