वोट मांगने कांग्रेसी विधायक के घर पहुंचे गणेश जोशी

0
146

ganesh joshi

देहरादून- प्यार और जंग में सब कुछ  जायज होता है। यह पुरानी कहावत है। अब इस कहावत में एक और शब्द जुड़ा है। वह है चुनाव। यानी प्यार, जंग और चुनाव में सबकुछ जायज है। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के मद्देनजर यह कहावत सटीक बैठती है। बुधवार की घटना को ही लें। एक निवर्तमान भाजपा विधायक वोट मांगने निवर्तमान कांग्रेस विधायक के घर पहुंच जाता है। बात यही खत्म नहीं होती। वोट मांगने वाला विधायक बाकायदा अपनी और अपनी पार्टी की नीतियों को लेकर कांग्रेसी विधायक को 15 मिनट तक लेक्चर देता है और सामने वाला आराम से सुनता भी है और यथा संभव मदद का आश्वासन भी देता है।  अब जरा दोनों विधायकों का नाम भी सुन लिजिए। वोट मांगने वाले भाजपा विधायक हैं मसूरी सीट से प्रत्याशी गणेश जोशी और जिनसे वोट मांगा गया वह हैं कांग्रेस के डोईवाला विधायक हीरा सिंह बिष्ट हैं।

शक्तिमान प्रकरण से चर्चा में आए मसूरी के निवर्तमान विधायक गणेश जोशी 2017 के विधानसभा चुनाव में भी इसी सीट से भाजपा प्रत्याशी हैं। चुनाव प्रचार के क्रम में वह बुधवार को डोईवाला सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी और निवर्तमान विधायक हीरा सिंह बिष्ट के घर पहुंच गये। दरअसल हीरा सिंह बिष्ट का आवास मसूरी विधानसभा क्षेत्र में पड़ता है। इस कारण गणेश जोशी का उनके घर जाना लाजिमी कहा जा सकता है। सामाजिकता के नाते हीरा सिंह बिष्ट ने भाजपा प्रत्याशी गणेश जोशी का गर्मजोशी से स्वागत किया। इतना ही नहीं गणेश जोशी ने हीरा सिंह बिष्ट से खुद को वोट देने की अपील की और उन्हें भाजपा की नीतियों और सिद्धांतों से भी अवगत कराया। करीब 15 मिनट तक कांग्रेसी हीरा सिंह प्रतिद्वंद्वी पारर्टी के नेता गणेश जोशी को सुनते रहे। गणेश जोशी ने हीरा सिंह बिष्ट से यह भी कहा कि मैं आपको वोट नहीं दे सकता। क्योंकि मेरा वोट आपके विस क्षेत्र में नहीं है। पर आप मुझे वोट दे सकते हैं। क्योंकि आपका वोट मेरे विस क्षेत्र में है।  हीर सिंह बिष्ट ने वोट देने का आश्वासन तो नहीं दिया पर उन्हें यथासंभव मदद का आश्वासन जरूर दिया।

बताते चलें कि 2007 के विस चुनाव में राजपुर रोड सीट से दोनों आमने-सामने थे। गणेश जोशी भाजपा तो हीरा सिंह बिष्ट कांग्रेस के उम्मीदवार थे । इस चुनाव में गणेश जोशी ने हीरा सिंह बिष्ट को करीब 3600 वोट से शिकस्त दी थी । 2007 में सरकार भी भाजपा ने पूर्ण बहुमत से बनाई थी । हीरा सिंह बिष्ट ने डोईवाला से उप चुनाव जीत कर राजनीति में दोबारा कदम रखा । लेकिन उन्हें अपनी घर की सीट छोड़ कर डोईवाला से चुनाव लड़ने को मजबूर होना पड़ा ।
रिपोर्ट- मोहम्मद शादाब
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here