सासें रोक देने वाली रही चिल्लूपार की मतगणना

0
78


गोरखपुर(ब्यूरो)- गोरखपुर के चिल्लूपार विधान सभा क्षेत्र की मतों की गणना सांसे रोक देने वाली रही| शनिवार सुबह से भाजपा प्रत्याशी व पूर्व राज्य मंत्री राजेश त्रिपाठी तथा बसपा प्रत्याशी और पूर्व मंत्री हरिशंकर तिवारी के पुत्र विनय शंकर तिवारी के बीच कांटे की खबर रही| पहले भाजपा फिर बसपा फिर भाजपा| दिन भर दोनो प्रत्याशी एक दूसरे पर बढ़त बनाते रहे| चिल्लूपार क्षेत्र हर चुनाव में पूरे प्रदेश ही नहीं दुनिया भर में चर्चा में रहा है| यहां से आठ बार जीत हासिल करने वाली काग्रेस ८० साल से वनवास काट रही है|

इस बार सपा कांग्रेस गठबंधन में इस सीट पर प्रत्याशी भी नहीं उतारी| यहां से हरिशंकर तिवारी छह बार चुनाव जीते हैं| वर्ष १९५७ में कांग्रेस के कैलापति ने जीत हासिल की थी|दूसरे चुनाव मे कांग्रेस हार गई| बाद में लगातार तीन चुनावमें कांग्रेस प्रत्याशी चुनाव जीते| अनवरत ११ चुनाव में पहले-दूसरे स्थान पर रही कांग्रेस का १९९६ में वनवास हो गया| लागातार छह बार विधायक रहे हरिशंकर तिवारी के पुत्र विनय शंकर तिवारी इस बार बसपा से मैदामें थे| हरिशंकर तिवारी को दो बार पराजित करने वाले राजेश त्रिपाठी भाजपा से मैदान में थे लेकिन हार गये|

रिपोर्ट-जयप्रकाश यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here