जिला प्रशासन का मतदाता जागरूकता अभियान नहीं बढ़ा सका प्रतापगढ़ का मतदात प्रतिशत

0
83


प्रतापगढ़ : प्रतापगढ़ में जिला प्रशासन द्वारा मतदाता जागरूकता अभियान अखबारी,नुमायशी व सड़को पर महज तमाशा बनकर रह गया॥ समाज के कुछ भले लोग और उम्मीदवार के वो सिपाही जो पोलिंग बूथ तक मतदाताओं को अपने व्यवहार व संसाधन से प्रयास कर न ले गए होते तो ये प्रतिशत मतों का और गिर जाता | यानि 50% से कम मतदाता जिसे अपना नेता चुने वो देश,विश्व का सबसे बड़ा लोकत्रांतिक देश माना जा रहा है | भारत गाँवों का देश है, मतदाता जागरूकता अभियान सिर्फ कागजी कोरम तक सिमट कर रह जाता है

व्यवस्था में बैठे लोग जिनकी भ्रष्टाचार की जड़े काफी गहरी हो चुकी हैं, उन्हें लोकतंत्र के महापर्व में भी भ्रष्टाचार करने का मन करता है और वो चुनाव में आवंटित बजट में भी खेला कर डालते हैं॥ मतदाता जागरूकता के नाम पर खेल किया जाता है | सिर्फ बजट में कमीशन का जुआड़ कहाँ से हो…??? इसके लिये वो दिमागी कसरत करते हैं | सिर्फ सड़क पर जुलूस/रैली निकालकर और अखबारों में विज्ञापन प्रकाशित कराने तक सिस्टम अपने दायित्वों की इतिश्री मानता हैं | लोकतंत्र के महापर्व और उससे जुड़े अभियान बहुत से लोगों तक नही पहुंचता, यहाँ तक कि वो मतदाता जिसे कोई भी उम्मीदवार पसंद नहीं रहता वो भी पोलिंग बूथ तक नोटा वाली बटन दबाने की इच्छा नहीं रखता |

रिपोर्ट – आर. आर. पाण्डेय

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY