अधूरी तैयारियों के बीच प्रतापगढ़ में मतदान शुरू, कम हो जाएगा मतदान प्रतिशत

0
170


कुंडा (प्रतापगढ़) : आधी अधूरी तैयारियों के बीच ज़िले में सुबह सात बजे ही मतदान शुरू हो गया। चुनाव आयोग के खुद के कर्मचारियों के न होने की सज़ा वोटर को भुगतनी पड़ रही है। उधारी के कर्मचारियों और अधिकारियों की वजह से बहुत सारे वोटर और नवयुवा अपने मत का प्रयोग नहीं कर पाएंगे। जिससे आयोग द्वारा मतदान प्रतिशत बढ़ाने का प्रयास बेल्हा में धड़ाम होता दिख रहा है।

चुनाव आयोग के खुद के कर्मचारियों के न होने से उसे राज्य सरकार और केंद्र सरकार के कर्मचारियों से अपना काम चलाना पड़ता है। जिसका असर बेल्हा के चुनाव पर साफ़ दिख रहा है।

बीएलओ द्वारा तहसील के कई सारे नवयुवकों और युवतियों का न ही वोटर कार्ड बनाया गया है और न ही उनका नाम मतदाता सूची में शामिल किया गया है। बहुत सारे वोटरों को वोटर लिस्ट में विस्थापित दिखा दिया गया है।इतना ही नहीं लापरवाही की हद पार करते हुए कई सारे बीएलओ ने तो वोटरों को मतदाता पर्ची तक नहीं दी है। सबसे बड़ी बात यह है कि लोगो की इस समस्या की ओर कोई भी अधिकारी कार्यवाही का डर न होने से ध्यान नहीं दे रहा है। अधिकारियों और कर्मचारियों की इस लापरवाही से तहसील के हजारों वोटर और नवयुवा अपने मत का प्रयोग नहीं कर पाएंगे।

चुनाव आयोग वोट प्रतिशत बढ़ाने के लिए बहुत प्रयास कर रहा है , लेकिन उसके उधारी के कर्मचारी ही उसकी मंशा पर पानी फेर रहें हैं। लोकतंत्र के इस महापर्व पर अपनी लापरवाही से रंग में भंग डाल दिए हैं। जिससे जिले का वोट प्रतिशत कम हो जाएगा।

रिपोर्ट – विश्व दीपक त्रिपाठी

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here