देखिये…. कैसे राज्यसभा के सदस्यों के व्यवहार ने विश्व स्तर पर देश का सिर शर्म से झुका दिया

0
168

वैसे तो हमारी संसद में अक्सर ही ऐसे मुद्दों और बयानों को लेकर शोर – शराबा हल्ला – गुल्ला मचा रहता है, जैसे किसी बात पर किसी छोटी क्लास में पढने वाले बच्चे बिना किसी सर – पैर की बात के चिल्ला रहे हों, पर अगर बाहर से कोई स्कूल घूमने आये तो वो बच्चे भी पूरी शांति के साथ अपनी नैतिकता का परिचय देते हैं और इतनी अपेक्षा तो हम हमारा नेतृत्व करने वाले राज्यसभा और संसद के सदस्यों से कर ही सकते हैं, पर शायद नहीं…?

राज्यसभा “THE HOUSE OF ELDERS” में 10 अगस्त 2015 को कुछ ऐसा ही हुआ भूटान से एक प्रतिनिधि मंडल की उपस्थिति में जब राज्यसभा के अध्यक्ष ने उनका स्वागत करते हुए कहा “मै हमारी सभा के सभी सदस्यों की ओर से भूटान से आये प्रतिनिधिमंडल का स्वागत करता हूँ और आशा करता हूँ कि यहाँ पर पर वो हमारी संसदीय कार्यप्रणाली को को अच्छे से समझ सकेंगे और कुछ सीख भी सकेंगे” और उनके इतना कहते ही राज्यसभा का हॉल ठहाकों से भर गया, और उसके बाद अध्यक्ष की कोशिशों के बाद भी संसद में हल्ला – गुल्ला जारी रहा और इस तरह अपने मेहमानों के माध्यम से हमने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर क्या सन्देश भेजा है इसका अंदाजा तो आप लगा ही सकते हैं |

низорал шампунь состав инструкция देखिये विडियो……

अखंड भारत परिवार बेहतर भारत निर्माण के लिए प्रयासरत है, आप भी इस प्रयास में फेसबुक के माध्यम से अखंड भारत के साथ जुड़ें, आप अखंड भारत को ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

2 × five =