हमने ये विश्वास कमाने के लिए दशकों मेहनत की है |

0
227

dhobi

जब मै घाट आया एक छोटा बच्चा थे और जब अपने गाँव वापस लौटा एक तब एक युवक, मैंने अपनी सारी जिंदगी यहाँ पर काम किया और मुझे इसका कोई मलाल नहीं है, सब कहते हैं कि वाशिंग मशीन और नयी तकनीकी हमारे व्यवसाय को उखाड़ फेकेंगी, लेकिन हमें कोई डर नहीं है, यद्यपि यह हम अपना पेट पालने के लिए करते हैं, हम यह उन करोड़ों भारतियों के लिए भी करते हैं जो वाशिंग मशीन नहीं खरीद सकते, और कुछ ऐसे लोग भी हैं जो वाशिंग मशीन खरीद सकते हैं पर फिर भी हमारी सेवा को चुनते हैं, मैंने व्यवसाय पढ़ा नहीं है पर अनुभव के आधार पर यह ख सकता हूँ कि चीजें आती जाती रहेंगी पर इस दुनिए में कुछ भी आपकी सच्चाई नहीं खरीद सकती | यह सालों की मेहनत और यकीन से आता है और हम धोबियों ने अपने दशकों लगाकर इसे कमाया है |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

five × 4 =