हादसों को दावत दे रहा जर्जर पुल

0
123

रायबरेली। क्षेत्र के मऊ नहर पुल से लाही बार्डर पुल तक पड़ने वाले वाले एक दर्जन पुलों की रेलिंग टूटने से आये दिन दुर्घटनाएं घटित हो रही है सिंचाई विभाग के अधिकारी जानबूझकर अंजान बने हुए है या फिर किसी भी बड़ी घटना का इंतजार कर रहे है ।
गौर तलब है कि जौनपुर ब्रांच की नहर पर मऊ नहर से लाही बार्डर तक लगभग 14 पुल बने है जिसमें 10 पुलों की रेलिंग पूरी तरह से टूटी हुई है जिन पर प्रत्येक पुल पर सैकड़ो वाहन व हजारों लोग प्रतिदिन आते जाते है। जबकि क्षेत्रीय लोगों ने जन प्रतिनिधियों सहित सिंचाई विभाग के अधिकारियों से कई बार पुल की रेलिंग बनवाने की बात कहीं लेकिन न तो जन प्रतिनिधियों ने सुना और न ही सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने। क्या सिंचाई विभाग को किसी बड़े हादसे का इंतजार है या फिर जान बूझकर अंजान बने हुए है। क्षेत्र के हिलहा, जमुरावां, पासिन का पुरवा, कैड़ावां, कोटवा मोहम्मदाबाद सहित दर्जनों गांव के ग्रामीणों ने पूछने पर बताया कि हम लोगों के जानवर रेलिंग न होने की वजह से नहर में गिर जाते है जो कई बार मर भी चुके है जिसकी शिकायत कई बार उच्चाधिकारियों से की गयी लेकिन आज तक नतीजा शून्य ही रहा। जिससे यह साफ जाहिर होता है कि नेता व अधिकारियों की मिली भगत के चलते यह कार्य नही हो पा रहा है।
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here