काशी सुमेरूपीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती जी महाराज का वाराणसी में जोरदार स्वागत


बलिया (ब्यूरो) काशी सुमेरूपीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती जी महाराज ने सोमवार को योगिडीह आश्रम बुढऊ में भक्तों को संबोधित करते हुए कहा कि कश्मीर कभी शिव शक्ति का उपासना स्थल था, लेकिन आज एक वर्ष से अलगाववादी ,राष्ट्रदोही भारत के संविधान को नहीं मानने वाले अराजक तत्वो ने कश्मीर को अशांत कर दिया है। ऐसी परिस्थिति में भारत सरकार अलगाववादियों पर प्रति वर्ष 1000 करोड़ रुपये खर्च करती है उसे तत्काल बंद करें ।

कश्मीर में पत्थर बरसाने वालों को सीधे गोली से जवाब दें ।जब पूर्व में साढ़े चार लाख कश्मीरियों को खदेड़ा गया हज़ारो लोगो का कत्लेआम किया गया, उस समय मानवाधिकार व सरकारें कहाँ थी। कश्मीर में 370 धारा को समाप्त करने की वकालत करते हुए कहा कि आज अमरनाथ यात्रियों पर आतंकी हमला हुआ है।इसकी जितनी निंदा की जाए वो कम है।केंद्र व प्रदेश सरकार अमरनाथ यात्रियों को सुरक्षा प्रदान करे अन्यथा उसे विषम परिस्थितियों से रूबरू होना पड़ेगा।

इसके पूर्व वाराणसी सर यहाँ पहुंचने पर शंकराचार्य स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती का जोरदार स्वागत किया गया।लोगो ने उन्हें फूल मालाओं से लाद दिया।प्रारम्भ में स्वामी परमेश्वरानंद सरस्वती महाराज उड़िया बाबा ने शंकराचार्य का वैदिक मंत्रोच्चार के बीच पूजन किया।तत्पश्चात शंकराचार्य ने आश्रम में नवनिर्मित भव्य दुर्गा मंदिर का निरीक्षण भी किया।इस मौके पर भोला प्रसाद आग्नेय, डॉ ललित किशोर लाल श्रीवास्तव, सौरभ कुमार, डॉ विनय कुमार सिंह, बृजमोहन प्रसाद अनाड़ी, विंध्याचल सिंह, राजकुमार मिश्र, अरविंद कुमार सिंह, सुधीर लाल श्रीवास्तव, सुनील कुमार, सुधीर सिंह, बबलू सिंह आदि रहे।

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY