चुनावी जंग में क्या-क्या नहीं करना पड़ता…

0
122

election compaigenदेहरादून :चुनावी रण क्षेत्र में जाने के लिए सियासी दलों ने आधुनिक वाहनो को रथ का नाम दे रखा है। हैलीकप्टर से लेकर मोटर कार और पैदल भी सफर किया जा रहा है। मकसद सिर्फ एक है किसी भी तरह जनता के बीच खुद पहुंचना है और अपनी बात पहुंचानी है।

सीएम हरीश रावत कांग्रेस के लिए फिलहाल वन मैन आर्मी बने हुए हैं। सुबह घुत्त तो शाम को नानकमत्ता पहुंच रहे हैं। क्या गढ़वाल, क्या कुमांऊ, क्या हरिद्वार, क्या तराई, हर इलाके में हरदा नजर आ रहे हैं।

आलम ये है कि मोटरसाइकल पर भी सीएम हरीश रावत चुनाव प्रचार करने के लिए जा रहे हैं। इस ऐड़ी-चोटी के जोर से भरे सफर का नतीजा क्या होगा ये तो चुनाव के नतीजे बताएंगे लेकिन इतना तो तय हो गया है कि चुनावी जंग हर रंग दिखा देती हैं यहां फतह हासिल करने के लिए चॉपर से उतर कर बाइक पर भी सवार होना पड़ता है।

रिपोर्ट – शादाब
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY