व्हाट्सएप ग्रुप बनेगा बंद घरों का चौकीदार

0
98


देहरादून(ब्यूरो)
– शहर में हो रही चोरी की घटनाओं को रोकने और उन पर अंकुश लगाने के लिए दून पुलिस अब सोशल मीडिया का प्रयोग करेगी। जिसके लिए राजधानी के हर थाने में एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया जाएगा, ग्रुप में अधिकारियों के साथ ही चीता व मोबाइल टीमों के सिपाही जोड़े जाएंगे। इस ग्रुप में सिपाहियों को भ्रमण के दौरान बंद मिलने वाले घर की फोटो अपलोड करनी होगी और उस घर की निगरानी भी करनी होगी। इसके साथ ही क्षेत्र में हर रोज होने वाले सत्यापन अभियान की फोटो भी ग्रुप में डालनी होगी।

पुलिस के आकड़ों की माने तो दून में पिछले एक महीने में करीब आधा दर्जन से ज्यादा चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया गया। चोरों ने घटना को अंजाम देने के लिए शहर के नेहरू कॉलोनी, पटेलनगर, राजपुर व रायपुर क्षेत्र को चुना। जांच में सामने आया कि ज्यादातर चोरियां बंद घरों में हुई। इससे भी ज्यादा गंभीर यह रहा कि दिन के समय भी दो घरों के ताले तोड़कर घर के सामानों में हाथ साफ किया गया। इसे देखते हुए पुलिस ने सोशल मीडिया के जरिये शहर की निगरानी करने की योजना बनाई है|

एसपी सिटी अजय सिंह ने बताया कि इसके लिए हर थाना प्रभारी से एक विशेष व्हाट्सएप ग्रुप बनाने को कहा गया है। इस ग्रुप में उनके थाने के चीता व मोबाइल टीम के सभी पुलिसकर्मी शामिल होंगे। यदि टीमों को भ्रमण के दौरान इलाके में किसी घर पर ताला लगा दिखता है या अन्य किसी माध्यम से किसी घर के बंद होने की जानकारी मिलती है तो टीम वहां जाएगी और उसकी फोटो खींचकर ग्रुप में डालेगी। साथ ही तब तक उस घर की निगरानी भी करेगी, जब तक गृहस्वामी वापस नहीं आ जाता। इसके अलावा हर दिन इलाके में किरायेदारों और फेरी लगाने वालों का सत्यापन करना होगा और मौके से सत्यापन अभियान की फोटो भी भेजनी होगी। सत्यापित किए गए लोगों के नाम पते व फोटो भी ग्रुप में भेजने होंगे। अनुमान लगाया जा रहा है कि पुलिस की इस पहल से शहर में चोरी की घटनाओं पर अंकुश लगाया जा सकता है।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here