जब जनरल सैम मानिक शॉ ने कहा था कि वह चाहते तो 1947 में पाकिस्तान जा सकते थे

0
538

Manekshaसैम मानिक शॉ एक ऐसा नाम जिसका नाम सुनते ही देश के हर एक जवान के चेहरे पर उनके लिए सम्मान खुद ब खुद आ जाता है I लेकिन देश के इस फील्ड मार्शल और सबसे बहादुर अफसर को केवल उनकी बहादुरी या फिर नेत्रत्त्व के लिए ही नहीं जाना जाता याद किया जाता अपितु उनकी हाजिर जवाबी और व्यंगात्मक शैली, मजाकिया अंदाज, दोस्ती आदि के लिए भी जाना जाता रहा है और आगे भी जाना जाता रहेगा I

1971 में भारत और पाकिस्तान के बीच भयंकर युद्ध सैम मानिक शॉ के नेत्रत्त्व में ही लड़ा गया था I और इसी युद्ध में सैम ने पाकिस्तान को काटकर दुनिया के नक्से पर एक नए देश को जन्म दे दिया था I 1971 के बाद एक बार सैम अपने दोस्तों और साथियों के साथ कही बैठे हुए थे और इसी दौरान उन्होंने कहा था कि अगर वह चाहते तो 1947 में भारत और पाकिस्तान के विभाजन के वक्त पाकिस्तान जा सकते थे I

उन्होंने आगे कहा कि अगर वह पाकिस्तान चले जाते तो जो युद्ध भारत ने जीता है उसका परिणाम कुछ और ही होता I सैम के इस बयान के बाद संसद से सड़क तक हालाँकि उनकी काफी किरकिरी हुई थी और सरकार को संसद में कड़ी आलोचनाओं का शिकार भी होना पड़ा था I लेकिन सरकार ने सफाई देकर इस मामले को संभाल लिया था I

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here